अत्याधुनिक रोपवे के निर्माण कार्यों का पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव ने किया मुआयना

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा।
नालंदा;-अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन केंद्र राजगीर में बन रहे आठ सीट वाले अत्याधुनिक आकाशीय रज्जू मार्ग (रोपवे) का निरीक्षण पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि मनु भाई परमार, बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम के प्रबंध निदेशक प्रभाकर और नालंदा जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने गुरुवार को निरीक्षण किया। पुरानी रोपवे के बगल में नए और अत्याधुनिक रोपवे का निर्माण कार्य आखिरी चरण में है।

19 करोड़ की लागत से बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा इस अत्याधुनिक रोपवे का निर्माण कराया जा रहा है। राइट्स कंपनी द्वारा निर्मित बिहार के पहले आठ सीट क्षमता वाले इस रोपवे में कुल 20 केबिन लगाए गए हैं। पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव रवि मनु भाई परमार तथा बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम के एमडी प्रभाकर ने रोपवे के निर्माण कार्य की प्रगति का निरीक्षण किया।

नए रोपवे का मैकेनिकल ट्रायल का भी मुआयना किया गया। पदाधिकारियों द्वारा रोपवे ट्रायल के दौरान नए रोपवे का सफर भी किया गया। सभी पदाधिकारी नए रोपवे से विश्व शांति स्तूप तक गए और फिर उसी से वापस लौटे ।अत्याधुनिक रोपवे के ट्रायल निरीक्षण के दौरान प्रधान सचिव रवि मनु भाई परमार ने कहा कि नये रोपवे का निर्माण कार्य आखिरी चरण में है।

लोअर टर्मिनल का कार्य लगभग पूर्ण हो चुका है। लेकिन अपर टर्मिनल के निर्माण में अभी कई कार्य बाकी है। बाकी कार्य को तेजी से पूरा करने का निदेश निर्माण कराने वाली कंपनी राइट्स को दिया गया। टर्मिनल के ऊपर जाने-आने के रास्ते में रेलिंग लगाने सहित फिनिशिंग एवं सजावट का कार्य शेष रह गया है। निरीक्षण के दौरान पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव ने बचे हुए कार्य को तेजी से शीघ्र पूर्ण कराने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि रोपवे कॉमर्शियल उपयोग के लिए तैयार हो जायेगा। तकनीकी पदाधिकारियों से अनापत्ति प्रमाण पत्र मिलने के बाद अत्याधुनिक नए रोपवे के उद्घाटन की तिथि तय की जाएगी। निरीक्षण में प्रधान सचिव के अलावे बिहार राज्य पर्यटन विकास निगम के निदेशक प्रभाकर, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी डॉ गोपाल सिंह, जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह, डीएफओ नेशामणि के, राइट्स के उप महाप्रबंधक, बीएसटीडीसी के कार्यपालक अभियंता, भवन निर्माण विभाग, विद्युत विभाग और पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

Comments are closed.