अपहरणकर्ता के चंगुल से भाग निकला 8 वीं का छात्र शिवम,पहुंचा जमुई रेलवे स्टेशन

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- अपहरणकर्ता के चंगुल से भाग कर शनिवार की शाम एक बालक भटकते हुए जमुई रेलवे स्टेशन पर पहुंच गया। जहां पुलिस लाइन में कार्यरत जवान सत्यजीत प्रधान से स्टेशन पर बालक अपने घर बात करवाने के लिए मोबाइल मांगा। इसी दौरान पूछ-ताछ में घटना की जानकारी होते ही पुलिस जवान ने उक्त बालक को रेल जीआरपी के हवाले कर दिया। बालक हाफ पैंट और टी-शर्ट पहने हुए था। जमुई रेल थानाध्यक्ष श्रीकांत रजक द्वारा पूछे जाने पर बालक ने सारी घटना को बताते हुए अपना नाम शिवम कुमार बताते हुए पिता का नाम शंभु सिंह और घर देवघर के नंदन पार्क स्थित महादेव नगर बताया। उसके बाद रेल थानाध्यक्ष द्वारा घटना की जानकारी देवघर पुलिस को दी।सूचना के देवघर टाउन थाना के एएसआई संजय कुमार शर्मा के साथ परिजन जमुई रेल थाना पहुंचे जहां कागज़ी प्रक्रिया के बाद बालक को अपने साथ देवघर ले गए।
———-
-28 अक्टूबर को ओमनी वाहन से छात्र को किया गया था अगवा

8 वीं वर्ग का छात्र शिवम कुमार ने बताया कि वे देवघर के महादेव नगर मुहल्ले स्थित अपने घर से घूमने के लिए नंदन पार्क गया था। जहां से 11 बजे सुबह घर लौटने के दौरान रास्ते में एक ओमनी वाहन आई जिसपर 4 लोग थे। एक व्यक्ति वाहन से उतरकर नाम पूछते हुए मुंह पर स्प्रे छींटकर वाहन में बैठा लिया। फिर शाम में आंख खुली तो वह एक कमरे में बंद पाया। शिवम ने बताया कि अपहरणकर्ता 6 से 8 की संख्यां में था। कमरे में बंद कर समय पर नाश्ता और खाना देकर चला जाता कुछ पूछने पर चुप रहने की बात कहता और जान से मारने की धमकी देता था।
———-
-29 अक्टूबर को परिजन द्वारा देवघर थाना में कराया गया था अपहरण का मामला दर्ज

छात्र के पिता शंभु सिंह ने बताया कि 28 अक्टूबर को शिवम के घर नहीं लौटने के बाद उसे सभी जगह तालाश किया गया।लेकिन जब शिवम का कुछ पता नहीं चला तो 29 अक्टूबर को टाउन थाना देवघर में अज्ञात लोगों के खिलाफ अपहरण करने का मुकदमा दर्ज कराया गया था। शिवम का कुछ पता नहीं चलने से सभी परिवार चिंतित थे। शिवम की खोज के लिए इधर-उधर भटक रहे थे। उन्होंने बताया कि शिवम दो भाई और एक बहन में बड़ा है।वह दून पब्लिक रेसिडेंशियल स्कूल में 8 वीं वर्ग की पढ़ाई कर रहा है। वे दो वर्षों से देवघर में परिवार के साथ रह रहे हैं। जबकि उनका घर शेखपूरा जिले के काशी बीघा गांव है।
——–
-चकमा देकर अपहरणकर्ता का बैग लेकर फरार हुए छात्र

शिवम ने बताया कि उसे सुनसान जगह पर एक कमरे में रखा गया था। शनिवार की शाम दो लोग उसकी देख रेख में लगे थे दोनों शराब की नशे धुत था इस वजह से कमरे का दरवाजा लगाना भूल गया था। इसी दौरान एक मालवाहक वाहन किसी को खोजने आई और वह वापस जाने लगी तो शिवम अपहरणकर्ता का बैग लेकर उसी वाहन के पीछे बैठ गया और जमुई के मेन रोड पर वहन के धीरे होते ही उतर गया। और ऑटो से शिवम जमुई रेलवे स्टेशन पहुंच गया। इधर जब देवघर के एएसआई संजय कुमार शर्मा द्वारा कैरी बैग की तलाशी ली गई तो बैग से 2202 रुपया नगद,दो कागज़ के मास्क,एक मूभ स्प्रे,एक पैजामा,एक मफलर,एक इनर सहित अन्य सामान बरामद किया गया।हालांकि बैग में कोई ऐसा समान बरमाद नहीं किया जा सका जिससे अपहरणकर्ताओं की पहचान की जा सके।
——–
-अपहरणकर्ताओं को और लड़के की थी तालाश

छात्र ने बताया कि गुरुवार को अपहरणकर्ता के मोबाइल पर किसी का कॉल आया था तब वह बात करने के लिए कमरे से बाहर निकल गया उसके बाद उसने अपने साथियों को बताया कि और लड़को की मांग किया गया है जिसके लिए उनलोगों को फोन पर किसी के द्वारा डांटा जा रहा था। बालक ने बताया कि सभी लोगों के पास कई प्रकार के छोटे हथियार भी थे। छठ पर्व के बाद कहीं दूसरी जगह ले जाने की बात आपस मे सभी लोग कर रहे थे।
———
-कहते हैं जमुई जीआरपी थानाध्यक्ष

जमुई जीआरपी थानाध्यक्ष श्रीकांत रजक ने बताया कि बालक को पुलिस लाइन के जवान द्वारा लाया गया था। बालक के अनुसार उसे देवघर से अगवा कर जमुई के किसी इलाके में रखा गया था बालक इलाके की शिनाख्त करने में असमर्थ है। देवघर पुलिस को सूचना देने के बाद उसे परिजन के हवाले कर दिया गया है।
———–
*कहते हैं देवघर थाना के एएसआई

टाउन थाना देवघर के एएसआई संजय कुमार शर्मा ने बताया कि परिजन द्वारा शिवम के अपहरण का मामला अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज कराया गया था। जमुई जीआरपी द्वारा सूचना देने के बाद बालक को बरामद किया गया है। फिलहाल बालक कुछ बताने में असमर्थ है पूछ-ताछ की जा रही है।

Comments are closed.