आपसी विवाद में गोलीबारी से घायल हुए युवक की इलाज के दौरान मौत

विजय कुमार पप्पू की रिपोर्ट
छपरा/मकेर: थाना क्षेत्र के पश्चिम ठहरा गाँव मे दो पडोसी के बीच झडप मे हुए गोलीबारी से एक पक्ष के युवक मौत हो गई। बताया जाता है कि घायल युवक पारस हाँस्पिटल पटना मे इलाज के दौरान दमतोड दिया। घटना को लेकर शास्त्री नगर पटना की पुलिस को प्रभूनाथ सिंह के पुत्र सुनिल कुमार ने अपने फर्द बयान मे बताया मेरे पडोसी राज बल्लम सिंह के पुत्र बिगन सिंह एंव दो पुत्र नवीन कुमार सिंह एंव अरबिंद कुमार सिंह तीनो मेरे दरवाजे पर लाठी डंडा हथीयार से लैस होकर पहुच गली गलौज करने लगे इसी दौरान मेरे मृतक भाई बाहर आया और पूछने लगा की गली क्यो दे रहे हो इतना कहते तीनो लाठी डंडे तथा हथियार के बट से भाई को मारने लगे किसी तरह जान बचा कर चिल्लाते घर के पीछे खेत की तरफ दौडा लेकिन तीनो खेत की तरफ पीछा कर भाई को खेत मे दबोच लिया। बिगन सिंह एंव एक पुत्र अरबिंद सिंह भाई को पकडे हुए थे। बिगन सिंह ने दुसरे पुत्र नवीन सिंह को पिता बिगन सिंह ने गोली मारने को कहा इतना सुनकर नवीन सिंह ने मृतक सतीश कुमार उर्फ जग्गी को सीने मे गोली मार फरार हो गए। जग्गी जोर जोर से चिल्लाने लगा मौके पर परिजन पहुच पुलिस को सुचना दी। थाना अध्यक्ष पुलिस बल के साथ पहुच घायल भाई को पीएसी मकेर लेकर पंहुचे। जहा चिकित्सक ने पटना रेफर कर दिया। परिजन घायल को पारस हाँस्पिटल पटना लेकर पहुच।े जहाँ रविवार की रात्रि मे मौत हो गयी। मौत की सुचना मिलते घर तथा गाँव मे कोहराम मच गया। लोगो के जुबान पर एक ही बात थी बहुत ही मिलनसार लडका था अभी उसकी शादी भी नही हुई थी। बूढी माँ शैल देवी अचेत हो जा रही थी तीन भाई मे जग्गी सबसे छोटा था, पढाई मे मन नही लगने से पोलम्बार का काम सीख रहा था। पिता प्रभुनाथ सिंह फौज से रिटायर थे तथा पूर्व बीबीसी सदस्य रह चुके है।

Comments are closed.