इलाज के दौरान डेंगू से जमुई के बालक की पटना में हुई मौत

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- बुधवार को जमुई के एक बालक की मौत डेंगू की वजह से पटना के महावीर हॉस्पिटल में इलाज के दौरान हो गई। मृतक बालक शहर के निमारंग मुहल्ले निवासी मो.रियासत का 8 वर्षीय पुत्र मो.रियाज बताया जाता है। मृतक के पिता ने बताया कि लगभग एक सप्ताह पहले उनके पुत्र को बुखार लगा था। तब उसने शहर के दो निजी चिकित्सक से बच्चे का इलाज कराया। चिकित्सक द्वारा इलाज करने के बाद भी जब बच्चे की तबीयत में सुधार नहीं हुआ तो चिकित्सक ने उसे पटना रेफर कर दिया। तब शुक्रवार को पटना में डॉ.उत्पलकांत के यहां भर्ती कराया गया। जहां जांच के के दौरान मंगलवार को डेंगू होने का पता चला तो चिकित्सक के सलाह पर बालक को पटना के महावीर अस्पताल में भर्ती कराया जहां बुधवार की अहले सुबह उसकी मौत हो गई। स्वजन ने बताया कि मृतक तीन भाई और एक बहन में मंझला भाई था और एक प्राइवेट स्कूल में क्लास वन में पढ़ाई करता था।
——–
बच्चे की मौत के बाद स्वजन व मुहल्ले में छाया मातम

जैसे ही बच्चे की मौत की सूचना परिजन व मुहल्ले के लोगों तक पहुंची वैसे ही मुहल्ले के लोग मृतक के घर पहुंचने लगे। हर कोई उस बच्चे की मौत से काफी दुखी नजर आ रहे थे। वहीं बच्चे की मां का रो-रोकर बुरा हाल हो रहा था। बार-बार अपने बच्चे का नाम लेकर दहाड़कर रोने लगती थी। मां के चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया।
———–
-डेंगू से हुआ जिले में पहला मौत

डेंगू से जिला में यह पहला मौत है। इससे पूर्व आज तक जमुई में डेंगू से एक भी लोगों की मौत की कोई सूचना नहीं मिली थी। स्वास्थ्य विभाग के लोगों की माने तो अब तक जितना भी डेंगू से संबंधित मामला आया था जिसमें अधिकांश लोग प्रदेश में ही रहते थे। स्थानीय लोग डेंगू की चपेट में बहुत ही कम आते थे। लेकिन शहर के नीमारंग मोहल्ला में हुए बच्चे की मौत से स्थानीय लोग काफी भयभीत नजर आने लगे है। लोगों ने शहर के सभी मुहल्ले में छिड़काव करने की मांग जिला प्रशासन से किया है।
——-
-कहते हैं सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डा. श्याम मोहन दास ने बताया कि बच्चे की मौत कैसे हुई है। इसकी जानकारी फिलवक्त उन्हें नहीं है। अगर डेंगू से बच्चे की मौत हुई है तो पटना से उनके विभाग को इस बात की जानकारी प्राप्त हो जाएगी। फिलहाल मुहल्ले में छिड़काव कराने की व्यवस्था की जाएगी। जल्द ही उक्त मुहल्ले में छिड़काव की जाएगी।

Comments are closed.