किसानों ने किया बिना मुआवजा बिजली टावर शिफ्ट करने का विरोध, चार लिए गए हिरासत में


प्रतिकात्मक तस्वीर

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा [ बिहार ]
राजगीर;- स्थानीय रेलवे गुमटी के पास बनाए जा रहे ओवर ब्रिज के निर्माण में एक लाख 32 हजार केवी का विद्युत लाइन बाधक बन रहा है।जिला प्रशासन द्वारा उसे हटाने के लिए कार्रवाई आरंभ की गई है।स्थानीय किसानों के द्वारा मुआवजा की मांग को लेकर विरोध किया गया।विरोध करने वाले चार किसानों को पुलिस प्रशासन द्वारा हिरासत में लिया गया है।प्रशासनिक कार्यवाही के तहत मंगलवार को बिजली टावर हटाने के लिए दंडाधिकारी और पुलिस बल को तैनात किया गया है।

दंडाधिकारी और पुलिस बल की मौजूदगी में 132 केवी का विद्युत टावर और उसके तार को हटाकर दूसरी जगह शिफ्ट करने की कार्रवाई आरंभ की गयी है।जमीन की मुआवजा की मांग को लेकर स्थानीय किसानों के द्वारा इसका विरोध किया गया।प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी और पुलिस द्वारा विरोध प्रदर्शन करने वाले चार लोगों को हिरासत में लिया गया है।हाई टेंशन टावर हटाने की कार्रवाई की जा रही है।दण्डाधिकारी के रूप में तैनात बीडीओ मिथिलेश बिहारी वर्मा ने बताया कि ओवर व्रिज निर्माण कार्य में एक लाख 32 हजार केवी का विद्युत बाधक बन रहा है।

ओवर ब्रिज के शीघ्र निर्माण के लिए बिजली टावर को हटाना आवश्यक है।डीएम के निर्देशानुसार वहां से 132 केवी का विद्युत आपूर्ति का टावर और तार हटाकर दूसरी जगह शिफ्ट करने के लिए पोल गाड़ने की कार्रवाई की जा रही है।जमीन का मुआवजा की मांग को लेकर किसान इसका विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों को बहुत समझाया बुझाया गया और कागजात लेकर संबंधित विभाग के पदाधिकारियों से मिलकर मुआवजा लेने की बात बताई गई बावजूद वे मानने के लिए तैयार नहीं है।

Comments are closed.