किसान गेहूं विचौलियों के हाथों बेचने को मजबूर:- राजद प्रदेश सचिव

ब्यूरो रमेश शंकर झा,समस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर:- एक ओर सरकार ने गेहूं क्रय के लिए दरें निर्धारित कर दी है। लक्ष्य भी निर्धारित कर दिये हैं, पर आलम यह है कि किसान औने-पौने भाव में इसे बेचने को विवश हो रहे हैं। स्थिति यह कि दलालों की चांदी आ पड़ी है, और व्यवसायी मालोमाल हो रहे हैं। वहीँ राजद के प्रदेश सचिव जवाहर लाल राय ने कहा कि सरकार द्वारा कृषकों के गेहूं का मूल्य 1925 रुपये निर्धारित दर पर पैक्सों को गेहूं खरीद के लिए अधिकृत करने की बात कही गई है। सरकार की ओर से जिले में 19 हजार मैट्रिक टन गेंहू खरीद का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जबकि अब तक पूरे जिले में एक मैट्रिक टन की खरीददारी नहीं हो पायी है। राजद के प्रदेश सचिव ने कहा कि गेहूं की खरीद प्रारम्भ नहीं होने के परिणामस्वरूप किसान अपना गेहूं विचौलियों के हाथों बेचने को मजबूर हैं। इस कारण कृषकों में व्याप्त आक्रोश के मद्देनजर पैक्सों के माध्यम से अविलंब किसानों के गेहूं की खरीद शुरू करने की जरुरत है। अन्यथा राष्ट्रीय जनता दल जन आंदोलन को बाध्य होगा। राजद के प्रांतीय नेता ने कहा कि गेहूं खरीद प्रारम्भ न करने व शून्य गेहूं खरीद करने वाले केन्द्र प्रभारियों को सरकार की ओर से चेतावनी जारी किया जाय तथा समस्त गेहूं केन्द्रों पर निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष प्रतिदिन गेहूं खरीद की जाये साथ ही किसानों को समय पर भुगतान सुनिश्चित किया जाये। इस आशय की जानकारी राकेश कुमार ठाकुर के द्वारा प्रेस को दी गयी ।

Comments are closed.