कृषि अवशेषों का प्रबंधन से होगी रोजगार का सृजन; कुलपति

फ़ोटो। समारोह में अध्यक्षीय संबोधन करते कुलपति 

रिपोर्ट;रेणु कुमारी,पूसा समस्तीपुर।
समस्तीपुर;- डॉ राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय स्थित स्पोर्ट्स काम्पलेक्स में चल रहे तीन दिनी किसान मेला के दूसरे दिन अध्यक्षीय भाषण करते हुए कुलपति डॉ रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि गावं में ही कृषि एवं किसान रहते है। ग्रामीण क्षेत्र को सुदृढ़ बनाने के लिए गावं के कृषि अवशेषों का प्रबंधन कर रोजगार का सृजन संभव है। किसानों को सस्ती सिंचाई प्रणाली दिया गया है। अभी भी भूजल दोहन होना बंद नही हो पाया है। विवि के रचनात्मक अध्ययन के अनुसार भूगर्भ जल को रिचार्ज करने की जरूरत है।

विवि की ओर से 285 एकड़ में विभिन्न फसलों का प्रत्यक्षण लगाया गया है। बाढ़ प्रभावित तथा जलजमाव वाले क्षेत्रों में नवीनतम तकनीक विकसित कर क्लाइमेट चेंज पर कार्य किया जा रहा है। विवि में आने वाले समय मे इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार लाकर और अत्यधिक छात्र छात्राओं के लिए सीट बढ़ाने पर भी कार्य किया जा रहा है। जिसके लिए छात्रावास आदि आधुनिक व्यवस्था पूरा किया जा रहा है। कुलपति डॉ श्रीवास्तव ने समारोह के उपरांत पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि बहुत जल्द विवि में कृषि पत्रकारिता पर एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स में नामांकन लेकर पठन पाठन की व्यवस्था सुनिश्चित किया जाना है। साथ एग्री टूरिज्ज्म पर भी डिप्लोमा कोर्स की शुरुआत करने का निर्णय लिया गया है।

Comments are closed.