घटिया मैटेरियल देख भड़के एसडीओ काम बंद करा दिया जांच का आदेश

फोटो – निर्माण कार्य का निरीक्षण करते एसडीओ

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास।
राजगीर;-एसडीओ द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल परिसर में बनाए जा रहे नए भवन के निर्माण कार्य को तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है।एसडीओ के आते ही निर्माण करा रहे मुंशी निर्माण स्थल से भाग खड़े हुए।उन्होंने अस्पताल के उपाधीक्षक को टीम गठित कर जांच कराने का आदेश दिया है।शिकायत है कि घटिया निर्माण कराया जा रहा है।तीन नंबर का ईट और मिट्टी मिला बालू का इस्तेमाल इस भवन निर्माण में किया जा रहा है।इस भवन के निर्माण कार्य में पाइलिंग और पीलरिंग के लिए छड़ – गिट्टी का इस्तेमाल कहीं नहीं किया गया है।

जन शिकायत पर जांच करने पहुंचे एसडीओ संजय कुमार ने जांच के दौरान कहा कि अस्पताल परिसर में बनाए जा रहे भवन के निर्माण में तीन नंबर के ईट का उपयोग किया जा रहा है।बालू भी घटिया किस्म का है. इस बिल्डिंग निर्माण में अब तक छड़ – गिट्टी का इस्तेमाल नहीं किया गया है।इसकी पुष्टि भवन निर्माण में लगे श्रमिकों ने एसडीओ के समक्ष मांगने के बाद भी एसडीओ को भवन का प्राक्कलन किसी के द्वारा नहीं दिखाया गया।निर्माणाधीन दीवार को उन्होंने पैर से ठोकर मार कर देखा तो वह भरभरा कर गिर पड़ा।

यह देख एसडीओ कुपित हुए और काम करा रहे लोगों को खरी खोटी सुनाया।उन्होंने कहा घटिया निर्माण कराने वालों को जेल भेज दिया जाएगा।एसडीओ ने आदेश दिया कि प्राक्कलन के अनुरूप इस भवन का निर्माण हर हाल में होनी चाहिए।थोड़ी भी गड़बड़ी पाई गई तो उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा घटिया मैटेरियल से भवन निर्माण कार्य कभी स्वीकार नहीं किए जाएंगे।इस निर्माण में छड़ और कंक्रीट का इस्तेमाल नहीं होते देखकर वे दंग रह गए।उन्होंने कहा कि इसकी जांच इंजीनियरों के दल से कराई जाएगी।बिना बिंब का भवन बनते देखकर एसडीओ ने आश्चर्य व्यक्त किया।

उन्होंने कहा फिलहाल काम करने पर रोक लगा दी गई है।अस्पताल के उपाधीक्षक को इसकी जांच कराने के लिए तथा प्राक्कलन अनुरूप कार्य संपन्न कराने का आदेश दिया गया है।उपाधीक्षक डा विपिन कुमार ने बताया कि एसडीओ के मौखिक आदेश पर इस भवन निर्माण कार्य का इंजीनियरों के दल से जांच कराया जाएगा।

इसके लिए भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को शीघ्र पत्र लिखा जाएगा।उन्होंने कहा कि जब तक जांच पूरी नहीं होती है तब तक भवन निर्माण कार्य बंद रहेगा।उपाधीक्षक के अनुसार भवन निर्माण कार्य बिहार मेडिकल सर्विसेज एंड इन्फ्राट्रक्चर कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा कराया जा रहा है।इस जांच के दौरान वार्ड पार्षद श्रवण कुमार, उपेन्द्र कुमार सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.