चैत्र नवरात्रा पर लगी कोरोना वायरस का ग्रहण

रिपोर्ट;रेणु कुमारी,पूसा
पुसा समस्तीपुर;- महाकवि विद्यापति की कर्मस्थली ओईनी डीह पर चैत्र नवरात्र के आगाज पर लगा कोरोना का ग्रहण, इस वर्ष शक्ति उपासना का नौ दिवसीय महानुष्ठान गंगाजल से कलश स्थापना के साथ आरंभ होगा। बैनी स्थित चैती दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष धनंजय कुमार झा ने इस आशय की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि शनिवार देर शाम श्री श्री 108 चैती दुर्गा स्थान परिसर मै आयोजन समिति की विशेष आपात बैठक में सर्वसम्मति से उक्त आशय का निर्णय लिया गया। जिसके अनुसार कोराना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रशासनिक निर्देश के आलोक में इस वर्ष शोभा यात्रा सह कलश यात्रा नहीं निकाली जाएगी। राकेश ठाकुर की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में सतर्कता, प्रशासनिक  दिशा निर्देश और जन भावना से जुड़े सभी विंदुओ पर विस्तार से चर्चा की गई। बताते चले कि पूर्व नियोजित कार्यक्रम के अनुसार 24 मार्च को कलश यात्रा निकाला जाना था। जिसे रद्द कर दिया गया है। अब 25 मार्च को कलश स्थापना एवं माता शैलपुत्री के पूजन के साथ पुरोहित पंडित शंकर झा की देखरेख में पूर्ण विधि विधान से नौ दिवसीय महानूष्ठान वासंती नवरात्रा का शुभारंभ होगा। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं को विशेष हिदायत दी गई कि पूजा के दौरान पूजा स्थल पर भीड़ नहीं लगने और श्रद्धालुओं में परस्पर दूरी का खास खयाल रखा जाए। साथ ही उन्होंने पूजा समिति की ओर से हालात को देखते हुए सहयोगियों और श्रद्धालुओं से सहयोग और समर्थन की अपील की है। मौके पर कुमार विकास, आमोद कुमार खा, सहदेव पासवान,  सुबोध पासवान, नगीना पासवान, संत कुमार सुमन, श्याम कुमार, अमन कुमार, अखिलेश ठाकुर सहित कई लोग मौजूद थे।

Comments are closed.