जिलाधिकारी ने बाराचट्टी प्रखंड का किया औचक निरीक्षण

सौरभ कुमार की रिपोर्ट
गया: जिलाधिकारी अभिषेक सिंह के द्वारा बाराचट्टी प्रखंड का औचक निरीक्षण किया गया। उन्होंने बाराचट्टी अंतर्गत काहूदाग पंचायत भवन का निरीक्षण किया। काहूदाग पंचायत में चल रहे आरटीपीएस काउंटर के संदर्भ में ग्रामीणों की शिकायत रही कि आरटीपीएस काउंटर समय से नहीं खोला जाता है। जिलाधिकारी ने कर्मियों को अंतिम चेतावनी देते हुए आरटीपीएस काउंटर पूर्वाह्न 10ः00 बजे प्रतिदिन हर हाल में खोलने का निर्देश दिया। उन्होंने यह भी बाताया कि कौन कौन से काम ऑनलाइन कराया जा सकता है डीजल सब्सिडी, फसल सहायता बीमा योजना इन सभी का ऑनलाइन की प्रक्रिया आरटीपीएस काउंटर पर कराया जा सकता है। उन्होंने पंचायत भवन के फर्नीचर एवं भवन का देखरेख करने का निदेश पंचायत सचिव को दिया। उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि पंचायत भवन में फालतू का जमावड़ा न रहे यह पंचायत सचिव सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने पंचायत भवन के 11 कमरों का निरीक्षण किया। उन्होंने काहूदाग पंचायत के महादलित ग्राम चौरिया में चल रहे मुख्यमंत्री 7 निश्चय योजना का निरीक्षण किया। वहां के ग्रामीणों ने बताया कि एक बहुत पुराना कुआं में बाउंड्री नहीं होने के कारण जानवर अथवा किसी आदमी के गिरने का डर लगा रहता है जिस पर जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेश दिया कि इस कुएं को ऊंचा करके ढलवा दें। कुछ ग्रामीणों ने बताया कि गांव के अंदर कई जगहों पर नल का जल नहीं पहुंच पाया है। इसके लिए जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जगह जगह पर चेक वॉल्ब लगवना सुनिश्चित करें ताकि सभी ग्रामीणों को पानी मिल सके। जिलाधिकारी ने वार्ड सचिव और वार्ड सदस्य को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि 10 दिनों के अंदर अगर कहीं भी लीकेज है तो उसे मरम्मति करवा दे एवं जगह-जगह पर चेक वॉल्ब लगवा दें। अगर किसी ग्रामीण से फिर शिकायत मिली तो सीधे तौर पर प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी और सख्त कार्रवाई की जाएगी। सरकार की योजनाओं में कोई कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने संबंधित मुखिया को निर्देश दिया कि सप्ताह में एक या दो दिन कार्य की जांच करते रहें। इस अवसर पर ग्रामीण जगदीश पासवान के द्वारा यह बताये जाने पर की उन्हें इंदिरा आवास की राशि अब तक प्राप्त नहीं हुई है।

जिलाधिकारी ने बीडीओ को निर्देश दिया कि इनकी राशि तत्काल उपलब्ध कराई जाए। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों से बिजली की उपलब्धता की जानकारी ली। इस अवसर पर बेचनी देवी एवं दादो देवी ने विधवा पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की। संबंधित आवेदनों को जिलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को लेने का निर्देश दिया। पानी टंकी के निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश दिया कि जो हॉलमार्क का पाइप नहीं है उसे बदलवाना सुनिश्चित करें एवं टंकी का जो छत है उसका लेयर बढ़वाना सुनिश्चित करें ताकि दुरस्थ ग्रामीणों को भी पानी मिल सके। प्रखंड कार्यालय का निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि जितनी पुरानी राशि पड़ी है उसे सरेंडर कर दिया जाए। शौचालय निर्माण घर का सम्मान योजना के अंतर्गत शौचालय की एंट्री में धीमी प्रगति एवं संबंधित के खातों में पैसा न भेजने के संबंध में डीपीएस जीविका श्री अजय मिश्रा का वेतन अगले आदेश तक अवरुद्ध करने का निर्देश दिया गया। प्रधानमंत्री आवास योजना में शत प्रतिशत कार्य न होने एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी की सूचना के बावजूद भी कार्यालय में न पहुंचने के कारण जिलाधिकारी ने रवि प्रकाश, इंदिरा आवास अकाउंटेंट को चयन मुक्ति के लिए प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने किसान भवन में जनप्रतिनिधियों के साथ सरकार द्वारा चल रही योजनाओं के संबंध में बैठक की। उन्होंने एक एक कर सभी जनप्रतिनिधियों की शिकायतों को सुना एवं उन्हें अवगत कराया कि प्रखंड विकास पदाधिकारी के स्तर से कार्रवाई की जाएगी अगर कार्रवाई से संतुष्ट नहीं होते हैं तो आप अनुमंडलीय लोक शिकायत निवारण कार्यलय में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करावें, अगर वहां से भी आप संतुष्ट नहीं होते हैं तो जिला लोक शिकायत निवारण कार्यालय में शिकायत दर्ज करावें। जिलाधिकारी ने बताया कि वे प्रत्येक सप्ताह के शुक्रवार के दिन आम लोगों से मिलते हैं। अगर कोई पदाधिकारी शिकायत नहीं सुनते हैं तो आप शुक्रवार के दिन समाहरणालय में आकर सीधे जिलाधिकारी से मिल सकते हैं। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से कहा कि शराबबंदी, दहेज प्रथा एवं बालविवाह के विरुद्ध सरकार का जीरो टॉलरेंस है। अगर कहीं भी इस तरह की शिकायतें मिलती हैं तो वरीय अधिकारी को सूचना दें। और वैसी शादियों में न जाएं जहां दहेजयुक्त शादी हो रही हो।

Comments are closed.