जिला योजना पदाधिकारी की कोरोना से मौत


फाइल फोटो

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलाश,राजगीर।
नालंदा ;- कोरोना का कहर रुकने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन किसी न किसी को अपना ग्रास बना रहा है। उसी क्रम में कोरोना ने नालंदा के एक युवा और होनहार पदाधिकारी को अपना ग्रास बनाया है। कोरोना वायरस की चपेट में आने से नालंदा जिला योजना पदाधिकारी संजय गंगवाल की बुधवार को मौत हो गई है। उनका इलाज एक सप्ताह से पटना के एम्स में चल रहा था। वे 45 वर्ष के थे। बुधवार को उन्होंने आखिरी सांस एम्स में ली। मौत की खबर मिलते ही नालंदा कलेक्ट्रेट में शोक की लहर दौड़ गयी। श्री गंगवाल नालंदा में डेढ़ साल से कार्यरत थे। मृतक जिला योजना पदाधिकारी पटना के राजेंद्र नगर के रहने वाले थे। वे अपने पीछे पत्नी के अलावे दो पुत्र और एक पुत्री छोड़ गए हैं। डी पी ओ के निधन की सूचना के बाद नालंदा समाहरणालय में एक शोक सभा का आयोजन कर दिवंगत पदाधिकारी को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई। डीएम ने मृतक पदाधिकारी के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा की गंगवाल एक योग्य, अनुभवी, मिलनसार और कर्मठ पदाधिकारी थे। उनके निधन से हम सब मर्माहत हैं। इस शोक सभा में डीएम योगेंद्र सिंह, डीडीसी राकेश कुमार, एडीएम नौशाद अहमद, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी राकेश कुमार सिंह, डीटीओ मनोज कुमार, जिला निबंधन पदाधिकारी पंकज कुमार, डीएसओ रविशंकर उमराव, डीसीएलआर प्रशांत कुमार, डीपीआरओ रविंद्र कुमार एवं अन्य पदाधिकारी शामिल हुए।

Comments are closed.