टूटे हाथ केऑपरेशन में युवक की मौत, आक्रोशित परिजनों का हंगामा

रिपोर्ट, मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)
जमुई:- शहर के महाराजगंज-महिसौड़ी रोड स्थित डॉ. अरूण कुमार सिंह के क्लिनीक में बुधवार की देर शाम ऑपरेशन के दौरान एक मरीज की मौत होने के बाद आक्रोशित परिजनों ने क्लिनिक में जमकर हंगामा किया। इस दौरान चिकित्सक डॉ. अरुण कुमार सिंह और उनके चिकित्सक पुत्र डॉ. विशाल की जमकर पिटाई कर दी। मामला यहीं नहीं थमा, आक्रोशित लोगों ने क्लिनीक में जमकर तोड़-फोड़ कर दिया साथ ही दवा काउंटर, जांच कक्ष और चिकित्सक के कार में आग लगा दिया। जबतक स्थानीय लोगों व पुलिस जवान द्वारा आग पर काबू पाया गया तब तक कार जल चुकी थी। मृतक युवक की पहचान नगर परिषद क्षेत्र के सिरचंद नवादा निवासी रघुनाथ साव का पुत्र कुंदन कुमार उर्फ मणि के रूप में हुई है।
———
-एसपी, एसडीपीओ द्वारा आक्रोशित लोगों को कराया गया शांत

इधर घटना की सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में घटना स्थल पर पुलिस पहुंची और लाठी चार्ज कर दिया। पुलिस के लाठी चार्ज के बाद लोगों में भगदड़ मच गई और लोग भाग खड़े हुए। बाद में एसपी डा. इनामुल हक मेंगनु और एसडीपीओ रामपुकार सिंह भी वहां पहुंच गए। और किसी तरह चिकित्सक पिता- पुत्र को बाहर निकाल कर कड़ी मोशक्कत के बाद मामला को शांत कराया गया। कार्रवाई के आश्वासन के बाद युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल जमुई भेजा गया।
———
-टूटे हाथ का ऑपरेशन के दौरान युवक की हुई मौत

बताया जाता है कि सिरचंद नवादा निवासी रघुनाथ साव का पुत्र कुंदन कुमार उर्फ मणि का बाइक एक्सीडेंट में बांया हाथ टूटने की वजह से उसके हाथ का ऑपरेशन हुआ था। लेकिन ऑपरेशन के 2 घंटे बाद उसे बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया। देर शाम तक जब उसे होश नहीं आया, तब बाद में चिकित्सक ने उसे मृत बता दिया। इस बात को सुनकर परिजनों के होश उड़ गए और लोग आक्रोशित हो गए। फिलवक्त चिकित्सक कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं थे।
———-
-चिकित्सक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर स्ट्रेचर पर शव सड़क पर रखा

इधर पोस्टमार्टम के लिए जब सदर अस्पताल लाया गया तो इस दौरान सदर अस्पताल में आक्रोशित लोगों ने पहले चिकित्सक पिता- पुत्र की गिरफ्तारी करने उसके बाद पोस्टमार्टम करने को लेकर हंगामा करने लगे। इसी बीच आक्रोशित लोगों ने शव को अस्पताल के स्ट्रेचर पर ही लेकर शहर के महाराजगंज चौक स्थित काली मंदिर के समीप सड़क पर रख दिया और चिकित्सक के क्लीनिक पर जाकर उसकी गिरफ्तारी और कार्रवाई की मांग करने लगे।
———-
-क्लिनिक को किया गया सील

दुबारा हंगामा की खबर सुन एसपी डॉ. इनामुल हक मेगनू, एडीएम, एसडीओ लखींद्र पासवान, एसडीपीओ रामपुकार सिंह एवं कई थानाध्यक्ष क्लीनिक पर पहुंचे और लोगों की मांग को लेकर क्लीनिक को सील किया गया। उसके बाद फिर शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया, जहां तकरीबन 11 बजे रात में पोस्टमार्टम कर शव को परिजनों को सौंपा गया। फिलहाल हालात तनावपूर्ण बनी हुई है।

Comments are closed.