डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति डाॅ० रमेश चन्द्र श्रीवास्तव, संपदा पदाधिकारी वीरेंद्र सिंह व सुरक्षा पर्यवेक्षक शिरीष चौधरी का आइसा कार्यकर्ताओं ने एक साथ फूंका पुतला


विश्वविद्यालय में कोरोना काल में सैनिटाइजेशन के नाम पर की गई बड़ी राशि की धांधली की हो जांच  – आइसा

रिपोर्ट;रेणु कुमारी, पूसा।
समस्तीपुर;-पूसा डाॅ. राजेन्द्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय पूसा के कुलपति के खिलाफ माहौल तेजी से गर्माता जा रहा है। आइसा कार्यकर्ताओं ने अपने कई दिनों से जारी आंदोलन को जारी रखते हुए बृहस्पतिवार को भी विश्वविद्यालय का मुख्य गेट खोलने, विश्वविद्यालय में कोरोना काल में सैनिटाइजेशन के नाम पर की गई बड़ी राशि की धांधली की जांच, संपदा पदाधिकारी वीरेंद्र सिंह व सुरक्षा पर्यवेक्षक शिरीष चौधरी के क्रियाकलापों की जांच कर कानूनी कार्रवाई करते हुए स्थानांतरण करने आदि मांगो को लेकर प्रखंड के बोस कंपनी चौक के निकट मक्खु चौराहा पर कुलपति के खिलाफ प्रदर्शन कर आइसा कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय के कुलपति डाॅ० रमेश चन्द्र श्रीवास्तव,संपदा पदाधिकारी वीरेंद्र सिंह व सुरक्षा पर्यवेक्षक शिरीष चौधरी का एक साथ पुतला फूंकाअध्यक्षताआइसा प्रखंड अध्यक्ष रौशन कुमार ने किया।

मौके पर मुख्य वक्ता के रूप में मौजूद भाकपा-माले प्रखंड सचिव अमित कुमार ने कहा कि वर्तमान कुलपति का कार्यकाल विश्वविद्यालय के इतिहास में काला अध्याय है। कुलपति 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ 9:30 से 2:30 तक ऑफिस चला रहे थे। और आज 1 जुलाई से 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ फुल डे ऑफिस चला रहे हैं। लेकिन जनहित में विश्वविद्यालय का मुख्य गेट नहीं खोल रहे हैं। कुलपति को जांच में यह बताना ही पड़ेगा कि बिहार व देश केनौजवानों की प्रतिभा के साथ कितना अन्याय कर रहे हैं। परीक्षा में कुलपति के इशारे पर उनके खास व दलालों के द्वारा सेटिंग कराकर धांधली की जाती है। इससे प्रतिभा पीछे छूट जाता है। यह प्रक्रिया पिछले 5 सालों से चल रही है। जांच होने तक आंदोलन जारी रहेगा।

वक्ताओं ने कहा कि उन्हें कुलपति के बर्खास्तगी से कम कुछ भी मंजूर नहीं। मौके पर माले नेता सुरेश कुमार, महेश सिंह समेत आइसा नेता पंकज कुमार ,बिट्टू कुमार, विजय कुमार, प्रशांत कुमार ,राजा कुमार,सुशील कुमार ,अभिमन्यु कुमार, साहिल कुमार, विकास कुमार नेपाली आदि मौजूद थे।

Comments are closed.