डा०जगन्नाथ मिश्रा की मनाई गयी जयंती

रिपोर्ट; ब्यूरो उमेश कुमार विप्लवी।
हाजीपुर(वैशाली);-मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्र का 85 वां जन्मदिन हाजीपुर के दिखी खुर्द में मनाया गया। जयंती समारोह की अध्यक्षता इंजीनियर उमाशंकर प्रसाद ने की जबकि संचालन शिक्षक उमेश कुमार निराला ने किया। श्री इंजीनियर उमाशंकर प्रसाद ने इस अवसर पर कहा कि इनका जीवन मानवाधिकार के लिए समर्पित रहा है ।इसके लिए उन्होंने लोगों को जगाया । शिक्षा जगत में बिहार के लिए इनके किए गए उल्लेखनीय कार्यों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे। वे बहुआयामी व्यक्तित्व से जुड़े रहे हैं।

वे एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचार थे। इस अवसर पर कुमारी रेणु ने कहा कि आज हम सभी कोरोना जैसे वैश्विक महामारी के समय जरूरतमंद लोगों की सेवा करते हैं ,वह उन्हीं की प्रेरणा से संभव हो सका है। कृष्ण किशोर कमल ने कहा कि हमें उनके जीवन से प्रेरणा लेने की जरूरत है और आगे बढ़ने की जरूरत है । इस अवसर पर रागिनी भारती द्वारा उपस्थित सभी लोगों को पौधे प्रदान किए गए । इस अवसर पर रागिनी भारती ने कहा कि हमें हर अवसर पर एक पौधे लगाकर पर्यावरण को संरक्षित रखने का काम करना चाहिए ।

श्री उमेश कुमार निराला ने कहा कि इनका जीवन सरल और हमेशा से दूसरों के लिए समर्पित रहा है । शिक्षा के क्षेत्र में और समाज के उत्थान में डॉक्टर मिश्र द्वारा किए गए कार्य को कभी भुलाया नहीं जा सकता। वह एक कुशल राजनीति के साथ-साथ विद्वान प्रोफेसर और आर्थिक सामाजिक विषयों के गंभीर जानकार थे।कार्यक्रम के अंत में 2 मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया गया । श्रद्धा सुमन अर्पित करने वालों में इंजीनियर उमाशंकर प्रसाद, शिक्षक उमेश कुमार निराला ,कुमारी रेणु,कृष्ण किशोर कमल ,राजीव कुमार सिंह उर्फ गोल्टु,अनमोल ,आकृति , रागनी भारती तथा गोरखनाथ राय शामिल हैं।

Comments are closed.