डॉक्टर श्रीकृष्ण सिंह के विचार आज भी प्रासंगिक

रिपोर्ट ब्यूरो राम विलास नालंदा बिहार
नालंदा;-जिले के कतरीसराय प्रखंड अंतर्गत दरवेशपुरा पंचायत के सैदी गाँव में बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री डॉक्टर श्री कृष्ण सिंह की 133 वीं जयंती मनाई गई। आगत अतिथियों द्वारा बिहार केशरी डॉ श्रीकृष्ण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण और पुष्पांजलि अर्पित की गयी।

इस अवसर पर कांग्रेस के प्रांतीय नेता एवं मुखिया नबेन्दू झा ने प्रथम मुख्यमंत्री को माल्यार्पण करते हुए कहा कि श्रीकृष्ण सिंह के विचार आज भी प्रासंगिक हैं। शिक्षाविद, कुशल प्रशासक के साथ वे महान स्वतंत्रता सेनानी थे। बिहार के प्रथम प्रधानमंत्री रहे डॉक्टर सिंह किसानों के सच्चे हितैषी थे।

उनकी उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि वे आधुनिक बिहार के निर्माता थे। देवघर के बाबा बैद्यनाथ मंदिर में दलितों का प्रवेश डॉक्टर श्री कृष्ण सिंह के सदप्रयास से हुआ था। जमीनदारी प्रथा के उन्मूलनकर्ता थे। उनके द्वारा किसानों के खेतों के पटवन के लिये नहर खुदवाने जैसे अनेकों जनकल्याणकारी काम किये थे।

नबेन्दू झा ने कहा कि श्री बाबू के आदर्शों पर चल कर ही मॉडल बिहार का बनाया जा सकता है। वे केवल कांग्रेस के नेता नहीं बल्कि आवाम के नेता थे। इस मौके पर दयान्द सिंह, सियाराम सिंह, मुकेश सिंह, बबलु सिंह, नवीन कुमार गांधी, गुपेश कुमार एवं अन्य लोगो ने बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री को माल्यार्पण और श्रद्धा सुमन अर्पित किया।

Comments are closed.