डॉ अशोक का निधन चिकित्सा और समाज के लिए अपूरणीय क्षति : मंत्री

 

 

फोटो : श्रद्धांजलि देते ग्रामीण विकास मंत्री

बेहतर चिकित्सक के साथ कुशल समाजसेवी थे डॉ. अशोक

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा।
राजगीर;- के जाने माने चिकित्सक डॉ. अशोक प्रसाद नहीं रहे।गुरुवार की देर रात्रि सीढ़ी से फिसलने से उनका निधन हो गया है।यह घटना नवादा में हुई थी। उनका पार्थिव शरीर आते और निधन की खबर से राजगीर में सर्वत्र शोक की लहर दौड़ गयी है।हर कोई उनका अंतिम दर्शन के लिए उनके आवास पर पहुंचने लगे।राजगीर के दवा दुकान और निजी क्लीनिक भी उनके निधन पर बन्द रखा गया।वे नवादा सदर पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी थे।

डॉ प्रसाद के निधन की खबर पाकर ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार शुक्रवार की सुबह अनुमंडल कार्यालय के समीप उनके घर पहुंचे।उन्होंने डॉ. अशोक के पार्थिव शरीर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।मृतक के परिवार से मिलकर सांत्वना भी दिया।उन्होंने कहा कि डॉ. अशोक केवल कुशल चिकित्सक ही नहीं बल्कि अच्छे सामाजसेवी भी थे।वे सामाजिक कामों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते थे।उनके निधन से समाज और राजगीर को अपूरनीय क्षति हुई है।इसकी भरपाई कर पाना काफी मुश्किल है।

उन्होंने कहा कि इस दुख की घड़ी में भगवान उनके परिवार के लोगों को सहन शक्ति दे।डॉ. अशोक प्रसाद अपने पीछे विधवा के अलावे दो पुत्री व एक पुत्र छोड़ गये हैं।वे मूल निवासी राजगीर प्रखंड के नोनही गांव के थे।डॉ अशोक की अलग पहचान बनायी थी।लोगों से मिलना, शहर की सड़कों पर पैदल घुमना और सबों से बात करना उनके जीवन शैली में शुमार था।परिवार के लोगों ने बताया कि वे गुरुवार को नवादा अपने मित्र डॉ. राजेन्द्र पटेल के यहां शादी में गये थे।रात में सोने जाने के समय सीढ़ी से फिसलकर गिर गये और चोट लगने से उनका निधन हो गया।

उनके निधन पर सिलाव पीएचसी के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ उमेश चंद्र, नारदीगंज पीएचसी के डॉ विमलेन्द्र कुमार सिन्हा, डॉ अवधेश कुमार, डॉ विजय कृष्ण परमेश्वरम, डॉ. चन्द्रमणि कुमार, डॉ. अनिल कुमार, राजगीर होटल एसोसिएशन के संरक्षक रामकृष्ण प्रसाद सिंह, प्रखंड उप प्रमुख सुधीर कुमार पटेल, जिला पार्षद चंद्रकला कुमारी, पैक्स अध्यक्ष अरुण कुमार, पूर्व पार्षद इंद्रमोहन सिंह निराला, मुन्ना कुमार, जयराम सिंह, अनुग्रह नारायण प्रसाद, भूषण प्रसाद, दिनेश प्रसाद, धर्मेन्द्र कुमार, श्रवण कुमार सहित अन्य द्वारा दिवंगत चिकित्सक को पुष्प भेंट कर श्रद्धांजलि दी गई।

Leave a Comment