तेज़ रफ़्तार अनियंत्रित ऑटो पलटी, चालक की हुई मौत, परिजनों में पसरा मातम

अंजुम आलम की रिपोर्ट
जमुई: खैरा थाना क्षेत्र के दाविल गांव के समीप शनिवार की देर रात्रि तेज़ रफ़्तार ऑटो सड़क पर गड्ढे को लेकर पलट गई। इस दुर्घटना में ऑटो चालक की मौके पर ही मौत हो गई। दुर्घटना के बाद घटना स्थल पर पहुंची खैरा थाना की पुलिस द्वारा शव को कब्ज़े में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। जहाँ मृत चालक की पहचान शहर स्थित कृष्णपट्टी मोहल्ले निवासी महादेव मण्डल के 28वर्षीय पुत्र राकेश मण्डल के रूप में हुई है।बताया जाता है कि युवक रिजर्व में हर्दिमोह गांव की ओर गया था जहाँ से पैसेंजर उतार कर वापस घर लौट रहा था तभी अचानक दाबिल गांव के समीप ऑटो सड़क पर बने गड्ढे में चली गई, जिससे ऑटो वाहन अनियंत्रित होकर पलट गई और चालक ऑटो के नीचे दब गया। इधर दुर्घटना को देख जबतक ग्रामीण पहुँचे तब तक ऑटो चालक राकेश मण्डल की मौत घटना स्थल पर ही हो गई। बताते चलें कि मृतक राकेश अपने परिवार का इकलौता कमाऊ सदस्य था।

ऑटो चलाकर अपने पिता महादेव मण्डल,मां अनिता देवी और पत्नी अर्चना देवी वो अपनी एक पुत्री का भ्रण-पोषण करता था। माँ और पिता को भी अपने पुत्र से बुढ़ापे के सहारे की आस लगी थी।जो अब वो सहारा की आस भी टूट गई। युवक के मौत की खबर सुनते ही परिजनों में कोहराम मच गया। राकेश के माँ और पिता का रो-रो कर बुरा हाल हो गया।जैसे बेटे की मौत के बाद अब शायद अब जीने की आस ही मानो खत्म हो गई हो। वहीं पत्नी अर्चना देवी भी अपने दो वर्ष की बेटी के साथ बेसुध पड़ी हुई है। बताते चलें कि मृतक राकेश तीन भाई और तीन बहन था जो अपने परिवारों के साथ खुशी-खुशी जीवन व्यतीत करता था। लेकिन वक़्त के हालात ने कुछ वर्ष पहले ही राकेश से दो भाई छीन लिया जिससे राकेश अकेला अपने परिवार का बोझ उठाने लगा। मृतक राकेश के पिता महादेव मण्डल ने बताया कि लगभग 07 वर्ष पहले उसके बड़े पुत्र छोटू की मौत सड़क हादसे में लखीसराय में हो गई थी जबकि कुछ वर्षों पहले उसके छोटे बेटे चंदन कुमार की मृत्यु लंबी बीमारी के वजह से हो गई थी। दो बेटे को खोने के बाद अब मंझले बेटे राकेश पर बुढ़ापे की आस टिकी थी जो वो भी राकेश की मौत के बाद टूट गई। वहीं यह भी बता दें कि मृतक राकेश मण्डल की शादी लगभग 07 वर्ष पहले हुई थी जिसे एक दो वर्ष की बच्ची है।

Comments are closed.