दिल्ली पुलिस ने हाईकोर्ट से कहा है कि राजधानी के 192 थानों में लगाए जाएंगे सीसीटीवी कैमर


ऋषी तिवारी
नई दिल्ली | दिल्ली पुलिस ने बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि मध्य अक्टूबर तक राजधानी के सभी थानों और पुलिस चौकियों में सीसीटीवी कैमरे लग जाएंगे ताकि एजेंसी के कामकाज में और पारदर्शिता लाई जा सके। जस्टिस संजीव खन्ना और जस्टिस चंद्रशेखर की बैंच को दिल्ली पुलिस और आप सरकार ने बताया कि राजधानी के जिन स्थानों पर कैमरे लगाने की जरूरत है उस पर वे संयुक्त रिपोर्ट दायर करेंगे। कोर्ट को सूचित किया गया कि गृह मंत्रालय ने 3100 पुलिसकर्मियों की भर्ती को मंजूरी दे दी है।
कोर्ट ने सरकार से कहा कि वह कैमरे की गुणवत्ता का भी खयाल रखे और कोर्ट ने खासतौर से पुलिस कमिश्नर और संबंधित पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे सभी थाने और चौकियों में कैमरा लगाया जाना सुनिश्चित करें और जांच कर बताएं कि सभी कैमरे सही से काम कर रहे हैं या नहीं। इसके अलावा वे कैमरे के काम करने को लेकर हर 3 महीने और 6 महीने में खुद निगरानी करें। साथ ही बेहतर व्यवस्था के लिए निगरानी का काम किसी स्वतंत्र निकाय जैसे सीआईएसएफ जैसी एजेंसी को दे दें।
सरकार ने स्ट्रीट लाइट के बारे में कहा है कि पुलिस की पीसीआर वैन लाइट के खराब होने की जानकारी भी रोजाना संबंधित स्थानीय निकायों को दे देती है।
कोर्ट ने राजधानी की सभी सड़कों पर स्ट्रीट लाइट लगाए जाने को लेकर दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव को निर्देश दिया है कि वे अपनी अध्यक्षता में संबंधित सिविक एजेंसियों के साथ बैठक करें और सभी जगहों पर स्ट्रीट लाइट लगाया जाना सुनिश्चित करें। वे यह भी तय कर दें कि स्ट्रीट लाइट के खराब होने पर कौन अधिकारी उसको ठीक करवाएगा। कोर्ट ने इस मामले से जुड़े सभी पक्षों से इस पर अपना-अपना जवाब दाखिल करने के लिए समय देते हुए 20 मार्च के लिए सुनवाई को टाल दिया है।

Comments are closed.