दीपवाली के पहले ‘राम दिवाली’ मना रहे हैं अयोध्या के लोग

राम नरेश ठाकुर
अयोध्या;- भगवान राम जब लंका पर विजय प्राप्त करने के बाद अयोध्या लौटे थे तो नगर को दीप से सजाया गया था । उसी घटना को याद करने के लिए हम हर वर्ष दीपावली मनाते हैं। यह देश ही नहीं, पूरी दुनिया का प्रकाश पर्व बन चुका है। लेकिन दीपावली से पहले ही अयोध्या में राम दीपावली मनाने का अवसर मिला है। राम मंदिर के निर्माण के लिए शिलान्यास जो होना है।

भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या इस वक्त पूरी तरह राममय हो गई है। आस्था का ऐसा सैलाब यहां पहले कभी नहीं देखा गया। अयोध्यावासी दीपवाली से पहले ‘राम दिवाली’ मना रहे हैं। और हो भी क्यों नहीं, 500 बरसों के इंतजार की घड़ियां समाप्त हो गई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानी बुधवार 5 अगस्त को श्रीरामजन्मस्थली पर भव्य राम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन करने जा रहे हैं।

मंगलवार के दिन अयोध्या में कोई भी कोरोना महामारी की चर्चा नहीं कर रहा था बल्कि उत्साह और उमंग के साथ भक्ति भाव में डूबा रहा। ऐसा विश्वास किया जा रहा है कि राम मंदिर की शुरुआत होते ही उनके संकट दूर हो जाएंगे। उनका यह भरोसा, उनका यह विश्वास राम रूपी सागर में गोते लगा रहा है। उमंगें हिलोरें ले रही हैं।

सरयू के घाट पर दीपोत्सव मनाने की होड़ लग गई। बच्चे, लड़कियां और महिलाएं आस्था का दीपक लगा रही थीं। यह दृश्य इतना मनोहारी था कि आंखों के सामने से हटने का नाम ही नहीं ले रहा था। सवा लाख दीपों की ज्योति में सरयू का तट बेहद चित्ताकर्षक लग रहा था।

रामजन्मभूमि पर राम मंदिर के भूमि पूजन को लेकर देशभर में उत्साह है। न सिर्फ देश में बल्कि विदेशों में भी जहां-जहां भारतीय हैं, वे बेसब्री से 5 अगस्त का इंतजार कर रहे थे। लोग अभी से दीपोत्सव मनाने की तैयारियों में जुट गए हैं।

जिस तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आव्हान पर देशवासियों ने कोरोना वारियर्स को धन्यवाद देने के लिए अपने घरों में दीपक जलाए, थालियां और घंटी बजाई थी, कमोबेश यही माहौल 5 अगस्त को पूरे देश में दिखाई दे रहा है।

मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री से लेकर कई आला मंत्रियों ने 4 अगस्त को दीपोत्सव की शुरुआत कर दी है। कई बड़े शहरों में पूजा पाठ, हवन यज्ञ और धार्मिक अनुष्ठान का सिलसिला शुरू हो गया है। मंदिरों को सजाया जा रहा है, उन पर रोशनी की जा रही है ताकि प्रभु राम को स्मरण करते हुए उनकी कृपा संपूर्ण मानव जाति पर बनी रहे।

पूरी अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन से पूर्व दु‍ल्हन की तरह सज गई है। मंदिरों पर की गई आकर्षक रोशनी मन में नई उमंग जगा रही है। जैसे ही शाम का अंधियारा घिरने लगा, वैसे ही सरयू के घाट पर दीपक जलाने का सिलसिला शुरू हो गया और देखते ही देखते सैकड़ों दीपों से पूरा माहौल जगमग होने के साथ ही साथ आस्था से भर उठा।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जो इस वक्त भोपाल के चिरायु अस्पताल में कोरोना का उपचार करवा रहे हैं, उन्होंने शाम 6 बजे अस्पताल में ही दीपक जलाया। उन्होंने प्रदेशवासियों से अपने घरों में दीपक जलाकर दीपोत्सव मनाने का अनुरोध किया है।

Comments are closed.