दो महीना बाद भी नहीं बदला गया जला ट्रांसफार्मर नल जल योजना सहित कृषि कार्य ठप

फोटो – जला बिजली ट्रांसफार्मर
रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा।
राजगीर;-एक साथ तीन बिजली ट्रांसफार्मर जलने से कंचनपुर गांव की बड़ी आवादी घुप अंधेरे में डूब गया है।ट्रांसफार्मर जलने से गांव से रोशनी तो गायब हो ही गयी है।नल जल योजना के तहत जलापूर्ति भी बंद हो गयी है।मौसम की बेरुखी से किसान नलकूप चलाकर धान की रोपनी कर रहे थे। लेकिन ट्रांसफार्मर जलने से कृषि कार्य भी बाधित है।यह हाल है राजगीर प्रखंड अंतर्गत मेयार पंचायत के कंचनपुर गांव की. करीब 50 – 60 घर की आबादी वाले इस गांव के किसानों में बिजली को लेकर भारी बेचैनी है।

ग्रामीणों के अनुसार दो महीने से अधिक समय से ट्रांसफार्मर जला है।इसकी सूचना बिजली विभाग के कनीय अभियंता से लेकर अधीक्षण अभियंता तक दिया गया है।लेकिन विभागीय अधिकारियों के कान पर जूं तक नहीं रेंग रहा है।इस भीषण गर्मी में ग्रामीण बिजली के लिए पानी पानी हो रहे हैं।गाँव में पीने के पानी का घोर संकट हो गया है।फिर से ग्रामीण हैंड पम्प पर आश्रित हो गये हैं।बिजली बल्ब की चकाचौंध से दूर जा कर लालटेन युग में पहुंच गए हैं।


नल जल योजना का स्टैंड पोस्ट

मेयार पैक्स अध्यक्ष अरुण कुमार ने बताया कि ट्रांसफार्मर जलने के 24 घंटे के भीतर बदलने का विभागीय आदेश है।लेकिन यहां के अधिकारी विभाग आदेश का अनुपालन करने में आनाकानी कर रहे हैं।जिसके कारण कंचनपुर गांव के किसानों की परेशानी दिन पर दिन बढ़ती जा रही है।गांव के प्रगतिशील किसान बिन्दु प्रसाद बताते हैं कि गांव के दक्षिण का सभी ट्रांसफार्मर जलने से कृषि कार्य ठप हो गया है।नल जल योजना भी बेकार जैसा हो गया है।

बावजूद अधिकारी टस से मस नहीं हो रहे हैं।पैक्स अध्यक्ष अरुण कुमार और कंचनपुर गांव के ग्रामीण सुनील यादव, कृष्णा प्रसाद, विजय महतो, शैलेंद्र महतो, विजय यादव, राजकुमार यादव, प्रमोद महतो, सुरेश मांझी, बिरजू मांझी, सोहराई मांझी, तेजन मांझी, विलास मांझी एवं अन्य ग्रामीणों ने बताया कि दो महीना पहले ट्रांसफार्मर जल गया।उसको बनाने और बदलने के लिए बिजली विभाग से दर्जनों बार संपर्क स्थापित कर गुहार लगाया गया है।लेकिन विभाग के अधिकारी केवल आश्वासन का घूंट पिला रहे हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि गाँव के दक्षिण देवी स्थान के पास नल जल योजना के लिए अलग ट्रांसफार्मर लगाया गया है।वह ट्रांसफार्मर भी नकारा साबित हो रहा है, जिसके कारण कंचनपुर गांव में नल जल की आपूर्ति महीनों से बंद है।यह योजना गांव के ग्रामीणों के लिए सफेद हाथी जैसा दिख रहा है।उन्होंने कहा कि पदाधिकारियों का ध्यान बार बार आकृष्ट कराने के बाद भी ग्रामीण समस्याओं का निदान नहीं किया जा रहा है।

ग्रामीण अब जले ट्रांसफार्मर को बदलने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, क्षेत्रीय विधायक और ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, बिजली मंत्री विजेंद्र यादव सहित बिजली विभाग के सीएमडी और विभागीय अपर मुख्य सचिव एवं अन्य आला अधिकारियों को ज्ञापन भेजकर बिजली ट्रांसफार्मर बदलने की गुहार लगाएंगे।

विभागीय अधिकारी का कहना है की यह उनके संज्ञान में नहीं है।मामले की जांच करायी जायेगी।बनने लायक होगा तो बनबा दिया जायेगा अन्यथा जला ट्रांसफार्मर बदल दिया जायेगा।

 

 

Comments are closed.