नशीली वस्तुओं से दूर रहें विद्यार्थी: डॉ मानव


रिपोर्ट :ब्यूरो राम विलास नालंदा बिहार।
नालन्दा;- नशा अपराध की जननी है। इसके चलते हँसता खेलता घर बुरी तरह बर्बाद हो जाता है। गुटखा, पान मशाला, तम्बाकू से कैन्सर जैसी भयंकर बीमारी जब हो जाती है, तो लाखों रुपए गँवाने पर भी ज़िंदगी वापस नहीं आ पाती। छात्र- छात्राओं को नशीली वस्तुओं से हमेशा दूर रहना होगा, तभी देश का कल्याण सम्भव है।

उक्त बातें नालंदा के हिलसा उत्तरी स्थित डीपीएस स्कूल के प्रांगण में आयोजित व्याख्यानमाला को सम्बोधित करते हुए गुटखा छोड़ो आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. आशुतोष कुमार मानव एवं समाजसेवी चंद्र उदय कुमार “मुन्ना” ने शनिवार को कहा। उन्होंने कहा कि आजकल कम उम्र के बच्चों में नशे की लत पाई जा रही है, जो काफ़ी दुर्भाग्यपूर्ण है। युवा वर्ग को नशे की चपेट में जाने से रोकने के लिए सभी शिक्षण संस्थानो में इस प्रकार का आयोजन गुटखा छोड़ो आंदोलन के द्वारा किया जाएगा।

कार्यक्रम के दौरान डीपीएस के निदेशक विजय भास्कर ने आगत अतिथियों का माल्यार्पण करते हुए स्वागत किया। युवाओं से सामाजिक गतिविधियों में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेने की अपील की। व्याख्यानमाला का संचालन सौरव कुमार ने किया। इस मौके पर डा. मानव ने सभी प्रतिभागियों को नशा विरोधी संकल्प दिलाया। आसपास के लोगों को भी प्रेरित करते रहने का आह्वान किया। मौक़े पर संस्थान के निदेशक विजय भास्कर के अलावे प्राचार्य सन्तोष कुमार, बीसीटीसी के निदेशक सौरव कुमार, अंशु भारती, रोहित कश्यप समेत दर्जनों प्रतिभागी उपस्थित थे।

Comments are closed.