नाबार्ड द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के साथ परिचर्चा कार्यक्रम

रिपोर्ट;ब्यूरो रमेश शंकर झा।
समस्तीपुर:- जिले के बिभूतिपुर प्रखंड क्षेत्र के सिंघिया घाट में प्रखंड स्तरीय बैंकर्स समिति के सदस्यों ने नाबार्ड द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त स्वयं सहायता समूह के सदस्यों के साथ परिचर्चा कार्यक्रम किया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए एलडीएम पी०के० सिंह ने बैंक कर्मियों को बताया कि समूह के माध्यम से ऋण देना बैंकों के लिए सबसे सुरक्षित व्यवसाय है। उन्होंने कहा कि नाबार्ड द्वारा प्रशिक्षण दिए गए समूह के सदस्यों को ऋण मुहैया कराए, जिससे वे अपनी आजीविका का साधन ढूंढ सके।

वहीं डीडीएम नाबार्ड जयंत विष्णु ने बताया कि 20 परिपक्व स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को नाबार्ड के माध्यम से बड़ी, सत्तू एवं अचार बनाने, पैकेजिंग तथा मार्केटिंग का प्रशिक्षण दिया गया। यह प्रशिक्षण पूसा केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय विज्ञान विभाग के प्रोफेसर द्वारा दिया गया था। समूह के सदस्य पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया तथा दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक से आए 10 शाखा प्रबंधकों के साथ रूबरू हुए एवं अपने ऋण आवश्यकताओं से अवगत कराया।

वहीं बैंक कर्मियों ने उनके द्वारा बनाए गए उत्पाद को देखा एवं सराहा तथा यह आश्वासन दिया कि समूह को कुटीर उद्योग हेतु उचित ऋण मुहैया कराया जाएगा। अतिथियों का स्वागत एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रदान रूरल इन्डेवेर्यस एसोसिएशन के सचिव विवेक कुमार ने किया। इस आशय की जानकारी देव कुमार द्वारा मिडिया को दी गयी।

 

Leave a Comment