नालंदा विद्यापीठ को मिलेगा बालिका प्लस टू स्कूल का दर्जा


फोटो – बुद्धिजीवियों के साथ बैठक करते डीईओ
– कैंपस में लगेगी संस्थापक की कांस्य प्रतिमा
रिपोर्ट : ब्यूरो राम विलास नालंदा [ बिहार ]
नालंदा;-जिला शिक्षा पदाधिकारी मनोज कुमार द्वारा नालंदा विद्यापीठ का शनिवार को निरीक्षण किया गया।इस दौरान उन्होंने बुद्धिजीवियों के साथ एक विशेष बैठक कर विद्यालय के उन्नयन, उत्क्रमित करने और विद्यापीठ के संस्थापक की प्रतिमा स्थापित करने के अलावे अन्य बिंदुओं पर गंभीर चर्चा की। प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय की खोज और उत्खनन के बाद नालंदा की यह पहली शिक्षण संस्थान है यह जानकर जिला शिक्षा पदाधिकारी काफी प्रभावित हुए।उन्होंने कबूल किया कि इतनी पुराने विद्यालय कि अब तकआपेक्षित विकास नहीं हो सका है। यह चिंता का विषय है।उन्होंने कहा कि अब इसके दुर्दिन समाप्त होने वाले हैं। नालंदा विद्यापीठ में नया सवेरा होने वाला है।यहां कई उल्लेखनीय कार्य शीघ्र होंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग हर संभव कार्रवाई करेगा।जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि नालंदा विद्यापीठ के संस्थापक महान स्वतंत्रता सेनानी सत्यपाल धवले जी की कांस्य प्रतिमा विद्यालय परिसर में स्थापित की जाएगी। इसके लिए सहायक अभियंता को एस्टीमेट तैयार करने का निर्देश दिया गया है।नालंदा विद्यापीठ की स्थापना 1933 ईस्वी में हुई थी। 87 वर्षों के सफर के बाद भी यह मिडिल स्कूल से आगे नहीं बढ़ सका है।नालंदा विद्यापीठ की अपेक्षित विकास अब तक नहीं होने पर उन्होंने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि नालंदा विद्यापीठ को बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय का दर्जा देने के लिए और संस्थापक की प्रतिमा स्थापित करने के लिए अगले सप्ताह सरकार को प्रस्ताव भेजा जाएगा।जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि इसके अलावे नालंदा विद्यापीठ सुरक्षित नहीं है इसलिए इसके चारदीवारी को और ऊंचा किया जाएगा।एक आकर्षक प्रवेश द्वार बनाए जाएंगे।विद्यार्थीयों को पानी पीने के लिए विद्यालय में मुकम्मल व्यवस्था नहीं है। इसलिए एक बोरिंग का निर्माण कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि नालंदा विद्यापीठ के संस्थापक सत्यपाल धवले महान स्वतंत्रता सेनानी थे। उनके नाम पर यहां एक सत्यपाल धवले पुस्तकालय बनाया जाएगा। उनके नाम पर स्मृति भवन और संग्रहालय बनाने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। बैठक की अध्यक्षता शिक्षाविद् डॉ गोपाल शरण सिंह ने की। बैठक में शिक्षा विभाग के सहायक अभियंता, विद्यापीठ के हेड मास्टर राजेश कुमार, राष्ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर स्मृति न्यास के अध्यक्ष नीरज कुमार, शिक्षक नेता सुरेंद्र प्रसाद, समाजसेवी डॉ अमित कुमार पासवान, अर्जुन प्रसाद, प्रमोद कुमार, बुद्धन पासवान एवं अन्य के द्वारा विद्यालय के विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव दिए गए।

Comments are closed.