निर्धारित समय तक काम नहीं तो ठेकेदार होंगे ब्लैक लिस्टेड : चीफ इंजीनियर

रिपोर्ट;राम विलास,राजगीर।
राजगीर;-चंडीमौ के शुंगकालीन पुष्कर्णी तालाब की उड़ाही दिन रात कराई जाएगी. इस आशय का आदेश लघु जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर बिंदेश्वर राम ने शुक्रवार को दिया. प्राक्कलन के अनुसार 15 जून तक चंडीमौ के शुंगकालीन पुष्करणी तालाब की उड़ाही हरहाल में पूरा कराने का निर्देश उन्होंने विभागीय अधिकारियों और ठेकेदार को दिया. उन्होंने कहा कि प्राक्कलन के अनुसार और निर्धारित समय तक इस तालाब की उड़ाही नहीं होने पर संवेदक अरुण देव को ब्लैक लिस्टेड कर दिया जाएगा. चीफ इंजीनियर बिंदेश्वर राम ने विभागीय सहायक अभियंता अशोक कुमार को इस संबंध में रिपोर्ट भेजने का आदेश दिया. चीफ इंजीनियर एक सप्ताह के भीतर इस तालाब की उड़ाही का दूसरी बार निरीक्षण करने शुक्रवार को चंडीमौ पहुंचे थे. इसके पहले 16 मई को चीफ इंजीनियर ने पहली बार इस तालाब की उड़ाही का निरीक्षण किया था. निरीक्षण के दौरान उनके द्वारा जो निर्देश दिए गए थे ठेकेदार द्वारा उसका अनुपालन नहीं किया गया. जल जीवन हरियाली योजना से 40 लाख 40 हजार प्राकलित राशि से इस तालाब की उड़ाही 2019 में शुरू की गई थी. लेकिन 2020 का मई महीना समाप्त होने को है, बावजूद एक चौथाई तालाब की खुदाई एवं उड़ाही नहीं हो सकी है. नीरज कुमार एवं अन्य ग्रामीणों की शिकायत पर चीफ इंजीनियर इस तालाब का निरीक्षण करने दूसरी बार आज आए है. उन्होंने साफ-साफ कहा की इस तालाब की उड़ाही में लापरवाही और उपेक्षा बर्दाश्त नहीं की जाएगी. प्राक्कलन के अनुसार ढाई मीटर तालाब की खुदाई और उड़ाही 15 जून तक निश्चित रूप से की जानी है. उन्होंने कनीय अभियंता ब्रजेश कुमार कुमार को साइट पर रहकर प्राक्कलन के अनुसार गुणवत्तापूर्ण काम कराने का आदेश दिया. चीफ इंजीनियर राम ने कहा दो पॉपलिन और डेढ़ दर्जन ट्रैक्टर इस तालाब की उड़ाही में लगाए गए हैं

,जो पर्याप्त नहीं है. ट्रैक्टर के अलावे मिट्टी ढोने के लिए उन्होंने हाईवा भी लगाने का आदेश दिया. कल से दो हाईवा दिन में और दो रात में काम करेगा. एस्टीमेट के अनुसार इस तालाब से 9 लाख, 83 हजार, 744 सीएफटी मिट्टी निकालनी है. मालूम हो कि बुधवार को डीएम योगेंद्र सिंह ने भी इस तालाब की खुदाई एवं उड़ाही का निरीक्षण किया था. उनके द्वारा भी कई निर्देश विभागीय इंजीनियरों और ठेकेदार को दिया गया था. इसके पहले लघु जल संसाधन विभाग नालंदा प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता राजेश कुमार. सहायक अभियंता अशोक कुमार एवं अन्य पदाधिकारियों द्वारा निरीक्षण किया जा चुका है. राजकुमार सिंह स्मृति न्यास के संस्थापक ग्रामीण नीरज कुमार, पावाडीह पैक्स अध्यक्ष सूरज कुमार, अधिवक्ता सुबोध कुमार, सिलाव भाजपा प्रखंड अध्यक्ष धीरज कुमार, अरुण कुमार एवं अन्य ने चीफ इंजीनियर को फीडबैक दिया. उनकी शिकायत है कि ठेकेदार द्वारा इस पौराणिक तालाब कि उड़ाही में लापरवाही बरती जा रही है. उनकी लापरवाही एवं उपेक्षा के कारण प्राक्कलन के अनुसार निर्धारित समय पर तालाब की उड़ाही असंभव है.

Comments are closed.