न्याय के लिए दर-दर भटकती महिला ने पत्रकार का लिया सहारा

रमेश शंकर की रिपोर्ट
समस्तीपुर/कल्याणपुर: जिला के चकमेहसी थाना क्षेत्र के बेलसंडी ग्राम पंचायत का, परिवार गणेश ठाकुर पिता स्वर्गीय राम उदगार ठाकुर उम्र लगभग 55 वर्ष, जो कि पिछले लगभग 25 वर्षों से मानसिक रोग से ग्रसित है। वहीँ गणेश ठाकुर के इस वास्तविक स्थिति का फायदा इनके अगल-बगल के लोग हमेशा से उठाते आ रहे हैं। जिसमें कि पहले तो उनके जमीन जायदाद का फायदा (अवैध कब्जा) उठाया, फिर उनके पेड़ पौधों का फायदा (अवैध तरीके से बिक्री कर काटना) उठाया। अब उनके दरवाजे और दरवाजे के अंदर भी कब्जा करने लगा है। उनके घर में एक धर्मपत्नी बेबी देवी उम्र लगभग 40 वर्ष, एक पुत्री है उम्र लगभग 16 वर्ष, और दो पुत्र उम्र लगभग 14 वर्ष, दूसरा का 12 वर्ष है। पीड़िता की माने तो उनकी पुत्री पर भी गलत नियत से कब्जा जमाने की कोशिश किया जा रहा है। वहीं समाज तमाशबीन बन कर बैठी हुई है। कोई कुछ बताने को भी तैयार नहीं है। पीड़िता ने बताया कि इन सभी घटनाओं को लेकर उन्होंने कई जगह आवेदन दिया लेकिन नतीजा विफल ही रहा। स्थानीय थाना, माननीय न्यायालय, महिला विकास समिति, मानवाधिकार आयोग, विधायक एवं प्रधानमंत्री कार्यालय तक गुहार लगाई है। लेकिन अब तक सरकार का एक भी नुमाइंदा इनकी सुध लेने नहीं पहुंचा। दरअसल उस परिवार को प्रताड़ित कर वहां से भगा देना और जमीन जायदाद को हथिया लेना आरोपियों का मकसद बताया जा रहा हैै। आगे का कोई रास्ता नहीं बचा, तो उन्होंने पत्रकार का सहारा लिया। यह पूरी बातें पीड़िता ने मीडिया के समक्ष खुद बयान दिया है।

Comments are closed.