पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पूण्यतिथि समर्पण दिवस के रूप में मनाया गया

रमेश शंकर की रिपोर्ट
समस्तीपुर/ताजपुर: जिले के ताजपुर प्रखण्ड क्षेत्र में भाजपा मण्डल पूर्वी द्वारा पंडित दीनदयाल उपाध्याय की पूण्य तिथि समर्पण दिवस के रूप मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता अशोक कुमार नायक ने किया। वहीँ संचालन सुशील कुमार चौबे ने किया। इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए भाजपा सहकारिता प्रकोष्ट के प्रदेश सह संयोजक धीरेन्द्र कुमार धीरज ने कहा कि दीनदयाल जी समाजवाद और साम्यवाद को कागजी और व्यावहारिक सिद्धांत के रूप में देखते थे। उनका स्पष्ट मानना था कि भारतीय परिपेक्ष में यह विचार न तो भारतीयता के अनुरूप है और व्यवहारिक ही है। शासन का उद्देश्य अंतोदय की परिकल्पना के अनुरूप होना चाहिए इसको लेकर भी उनका रुख स्पष्ट है। समाजवादी से प्रेरित तत्कालीन सरकारों ने व्यापार जैसे काम को भी अपने हाथ में लिया जो राज्य के लिए बेहद घातक साबित हुआ। दीनदयाल जी इसके खिलाफ थे। सामाजिकता के इसकी खतरे के बचने के लिए हमें दीन दयाल उपाध्याय के चिंतन पर ही लौटना होगा। मानव के कल्याण का वही रास्ता शेष है। इस कार्यकर्म के मौके पर जिला उपाध्यक्ष कृष्णमोहन प्रसाद गुप्ता, युवा मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष राजीव सूर्यवंशी, सत्येंद्र प्रसाद सिंह, सरयुग साह, पवन पोद्दार, पिंकी देवी, पंकज कुमार राम, विनोद कुमार चौबे, संतोष कुमार सिंह, सुशील कुमार साह, दीप नारायण, शोभा देवी, पिंकी देवी सहित भाजपा कार्यकर्ताओं ने दीनदयाल जी के विचारों पर प्रकाश डाला।

Comments are closed.