पुलिस और मीडिया से बेहतर संबंध के लिए प्रशिक्षु डीएसपी किए गए प्रशिक्षित

रिपोर्ट :ब्यूरो राम विलास नालंदा बिहार।
नालंदा;-बिहार पुलिस अकादमी द्वारा पहली बार प्रशिक्षु डीएसपी को मीडिया से फेस करने के लिए प्रशिक्षण दिलाया गया। किसी भी घटना दुर्घटना को मीडिया के समक्ष कैसे प्रस्तुत की जाए किसके बारे में प्रशिक्षु अधिकारियों को बताया गया। इन प्रशिक्षु आरक्षी उपाधीक्षकों की ट्रेनिंग इसी माह समाप्त होने वाली है। ये सभी प्रशिक्षु डीएसपी ट्रेनिंग समाप्त कर अपने पदस्थापन क्षेत्र में नई ऊर्जा और जोश के साथ सेवा देने के लिए जाने वाले हैं।

पुलिस की  इमेज बेहतर बने इसी सोच के तहत बिहार सरकार की पहल पर राजगीर के बिहार पुलिस अकादमी में प्रशिक्षु डीएसपी को मीडिया के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया । इस कार्यक्रम में 119 प्रशिक्षु डीएसपी शामिल हुए। उन्हें मीडिया इंटरेक्शन करवाया गया। बताया गया कि मीडिया के साथ कैसे वार्ता करनी है। घटना दुर्घटनाओं के बारे में उन्हें किस तरह से एक्सप्लेन करना है।

मीडिया और पुलिस के रिश्तो को बेहतर बनाने के लिए कैसा व्यवहार करना है। घटना दुर्घटनाओं को मिडिया से शेयर करने के बारे में विस्तृत रूप से जानकारियां दी गई। इस मौके पर  स्कूल ऑफ़ जनर्लिजम एन्ड  मास कम्युनिकेशन के  निदेशक इफ्तिखार अहमद ,वरिष्ठ पत्रकार शिवपूजन झा , को-ऑर्डिनेटर डॉ मनीषा प्रकाश ने अपना विचार साझा किया। मॉक ड्रील के दौरान सवाल पूछे गए इसका उत्तर विशेषज्ञों ने दी।

प्रशिक्षण पाने वाले सभी प्रशिक्षु डीएसपी ने  पूरी तन्मयता से सभी सत्रों में हिस्सा लेकर मॉक ड्रिल भी किया। हालांकि इस प्रशिक्षण में शामिल अधिकांश प्रशिक्षु डीएसपी ने  घटनाओं के बारे में विस्तार से अपना पक्ष मीडिया के सामने रखा।  प्रेस कॉन्फ्रेंस में  क्या-क्या सवालात होते हैं। इस जानकारी से उन्हें लैस किया गया।

इस अवसर पर मौजूद बिहार पुलिस अकादमी के सहायक निदेशक अजय कुमार पांडेय पत्रकार की भूमिका में नजर आए। उन्होंने भी प्रशिक्षु डीएसपी को मीडिया से बेहतर बनाए रखने और घटना दुर्घटना को मीडिया के समक्ष प्रस्तुत करने के लिए गहन जानकारी दी। प्रशिक्षण में आए अतिथियों को अकादमी द्वारा प्रतीक चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया। और सामूहिक फोटो सूट कराया गया।

बिहार सरकार ने आर्यभट्ट नॉलेज यूनिवर्सिटी पटना  में स्कूल ऑफ़ जनर्लिजम एन्ड  मास कम्युनिकेशन कोर्स शुरु की है।  सरकार से सहमति मिलने के बाद पुलिस और मीडिया के बीच संबंधों को और बेहतर बनाने एवं इमेज सुधारने के लिए बिहार पुलिस एकेडमी राजगीर में पहली बार प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित की गयी।

Comments are closed.