पैगंबर मोहम्मद साहब के जन्म दिन पर दिया भाईचारा व शांति का संदेश

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- शहर के विभिन्न मुहल्लों में रविवार को
पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मोहम्मद सलल्लाहो अलैहे वसल्लम का जन्म दिन धूम-धाम से मनाया गया। हालांकि इस अवसर पर शहर में निकलने वाली जुलूस-ए-मोहम्मदी को आयोध्या मामले पर फैसला आने के बाद स्थगित कर दिया गया। लेकिन शहर के निमारंग, भछियार, इस्लामनगर,रजा नगर सहित विभिन्न मुहल्लों से लोग महिसौड़ी मुहल्ले स्थित मदरसा अशरफिया मुख्तारूल उलूम में जमा हुए। जहां से तालिम- याफ्ता बच्चों व अन्य लोगों की टोली बैनर और पोस्टर के साथ निकाली गई। उक्त टोली महिसौड़ी सहित अन्य मुहल्लों के गलियों का भ्रमण करते हुए मोहम्मद साहब के उपदेशों से सभी लोगों को रूबरू कराया। इस दौरान सुन्नी उलेमा बोर्ड के सदस्यों द्वारा भी घूम-घूम कर लोगों को मोहम्मद साहब के उपदेश से अवगत कराया।

इस अवसर पर मदरसा के संचालक मौलाना फारूक, शिक्षक मो. अकबर हुसैन,
मौलाना रिजवान ने बताया कि
मुहल्ले में मोहम्मद साहब के जन्म दिन की खुशी में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस दौरान शाम में मदरसा के छात्रों के बीच नात, तकरीर और करत का प्रतियोगिता आयोजित किया जाएगा। प्रतियोगिता में अव्वल आये छात्र को पुरस्कृत भी किया जाएगा। कार्यक्रम के समापन के बाद देश के अमन-शांति व भाईचारे के लिए अल्लाहताला से दुआ की जाएगी। इस अवसर पर सुन्नी उलेमा बोर्ड के सचिव जियाउर्रसुल गफ्फरी,मुफ्ती गुलाम जिलानी, मौलाना मुस्लिम अहमद, मौलाना इलियास हुसैन, मौलाना जियाउद्दीन अशरफी, हाफिज मन्नवर हुसैन, मौलाना जफीर उद्दीन, मास्टर मो. अब्दुल्लाह सहित काफी संख्या में मदरसे के छात्र और स्थानीय लोग मौजूद थे।

Comments are closed.