पौने 28 करोड़ की लागत से बनेगा पीएम आवास

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास।
राजगीर;-प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राजगीर नगर पंचायत द्वारा अलग अलग फेज में 167 लाभार्थियों का चयन किया गया है।उनमें से 112 लाभार्थियों को आवास निर्माण के लिए राशि आवंटित की गयी है।51 लाभार्थियों को त्रुटि वस आवास निर्माण के लिए धन का आवंटन नहीं किया जा सका है।त्रुटि सुधार कर शीघ्र धन आवंटित किया जायेगा।प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के तहत राजगीर नगर पंचायत को 27 करोड़ 77 लाख का आवंटन मिला है।इनमें से एक करोड़ 45 लाख रुपए निर्माण कार्य पर व्यय किये जा चुके हैं।

पहले फेज के 45 में से 42 लाभार्थियों का आवास बनकर तैयार हो गया है।दूसरे फेज के 70 लाभार्थियों में से 34 लाभार्थियों को आवास बनाने के लिए धन का भुगतान किया गया है।इसी प्रकार तीसरे फेज के 52 लाभार्थियों में से 36 लाभार्थियों को पहला किस्त का भुगतान किया गया है।चयनित लाभार्थियों को तीन किस्त में आवास निर्माण के लिए धन आवंटन करने का प्रावधान है।लाभार्थी द्वारा काम शुरू करने के तुरंत बाद पहले किश्त के रूप में 50 हजार रुपए आवंटित करने का नियम है।एक आवास पर दो लाख रुपए का आवंटन दिया जाता है।

आवास निर्माण के प्रत्येक फेज में जीरो टैगिंग अनिवार्य है।दूसरे फेज के 70 लाभुकों में से 34 लाभुकों को राशि की आवंटन की गई है।इनमें से 22 को पहला किस्त और 15 को दूसरा किस्त दिया जा चुका है।लाभुकों द्वारा आवास निर्माण के लिए गड्ढा खोदने पर जीरो टैगिंग की जाती है।इसके साथ ही 50 हजार रुपए का भुगतान किया जाता है।इसके बाद प्लिंथ निर्माण बाद एक लाख रुपये और छत ढलाई के बाद एक लाख रुपये भुगतान का प्रावधान है।छत निर्माण होने पर एक लाख देने का प्रावधान है।

किवाड़ खिड़की लगाने के बाद के लिए 30 हजार और अंतिम निर्माण कार्य साइन बोर्ड आदि लगाने के बाद 20 हजार भुगतान का सरकारी प्रावधान है।अब तक आवास विहीन लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भवन आवास निर्माण के लिए सरकार द्वारा धन का आवंटन किया जा रहा था।लेकिन अगले चरण में लैंडलेस लोगों के लिए बहु मंजिली भवन निर्माण की योजना बनाई गई है।जिन व्यक्तियों को अपना भूमि और भवन नहीं है वैसे लोगों को चिन्हित कर बहुमली भवन में जगह दी जाएगी।

— सर्वे रिपोर्ट के बाद भी नहीं मिला पीएम आवास

तीन बार सर्वेक्षण और रिपोर्टिंग के बाद भी रिक्शा चालक दंपत्ति अनीता देवी, पति महेंद्र चौधरी वार्ड संख्या 11 को प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिल सका है. यह दम्पति गरीबी रेखा से नीचे का सदस्य है. बावजूद वह सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं के लाभ से बंचित है. अनीता देवी का घर इस कदर बर्बाद है कि किसी भी दिन गिरकर ध्वस्त हो सकता है. कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है.

 

कार्यपालक पदाधिकारी, नगर पंचायत, शशिभूषण प्रसाद, ने बताया की राजगीर नगर पंचायत अंतर्गत जिन लोगों को आवासीय जमीन है, लेकिन आवास निर्माण में असमर्थ हैं. वैसे लोगों की पहचान कर प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत भवन निर्माण के लिए दो लाख रुपये की सहायता राशि दी जा रही है. अगले चरण में लैंडलेस लोगों को भी बहुमंजिला भवन बना कर आवास उपलब्ध कराया जाएगा.

Comments are closed.