प्रत्याशियों को पढ़ाया गया आदर्श आचार संहिता का पाठ, उलंघन करने पर दी गई कार्रवाई की चेतावनी

रिपोर्ट :ब्यूरो, राम विलास, नालंदा, बिहार।
राजगीर ;-जिला निर्वाचन पदाधिकारी योगेंद्र सिंह द्वारा विधानसभा चुनाव को लेकर नालंदा जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के साथ मंगलवार को बैठक की गई। राजगीर के इंटरनेशनल कन्वेंशन सेंटर में आयोजित इस बैठक में सभी ऑब्जर्वर के अलावे सभी विधानसभा क्षेत्र के निर्वाची पदाधिकारी, सहायक निर्वाची पदाधिकारी, सभी कोषांगों के नोडल अफसर सहित एसपी, एएसपी, सभी डीएसपी एवं अन्य पदाधिकारी शामिल हुए।

डीएम द्वारा सभी प्रत्याशियों को आदर्श आचार संहिता का पाठ पढ़ाया गया। आचार संहिता को सख्ती से अनुपालन करने का निर्देश दिया गया। साथ ही आचार संहिता उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई। बैठक में आय-व्यय पंजी संधारण करने के तौर तरीके बताए गए। प्रत्याशियों द्वारा आय- व्यय पंजी का निरीक्षण कब, कहां और किन से करानी है इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। डीएम योगेंद्र सिंह ने कहा कि पहले एक प्रत्याशी को 28 लाख रुपए तक खर्च करने की अनुमति थी, जिसे बढ़ाकर अब 30 लाख रुपया कर दिया गया है।

प्रत्याशियों को नया बैंक अकाउंट खुलवाने और विभिन्न स्रोतों से प्राप्त आय को अकाउंट में जमा करने तथा अकाउंट से ही खर्च करने का निर्देश दिया गया। 10 से अधिक का भुगतान चेक से करने के लिए कहा गया है। बताया गया कि प्रत्याशियों को प्राप्त सभी धन आय-व्यय पंजी में संधारण करने तथा बैंक अकाउंट में जमा करनाअनिवार्य है। आपराधिक रिकार्ड वाले प्रत्याशियों को दैनिक समाचार पत्रों और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के द्वारा अपना अपराधिक विवरण तीन बार प्रकाशित व प्रसारित कराने के समय और तिथि के बारे में बिस्तार से बताया गया।

सभी प्रत्याशियों को तीन बार आय – व्यय पंजी की जांच भी व्यय प्रेक्षक से कराने के लिए कहा गया। जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने कहा कि कोई प्रत्याशी वास्तविक खर्च को छिपाने की कोशिश करेंगे तो वे पकड़े जाएंगे। प्रत्याशियों को बता दिया गया है कि जिला में सभी प्रत्याशियों की शैडो आय – व्यय पंजी तैयार की गई है। प्रत्याशियों के द्वारा विभिन्न मदों में किये जा रहे खर्च का ब्योरा शैडो आय व्यय पंजी में संधारण किया जा रहा है।

आय- व्यय पंजी निरीक्षण के दौरान दोनों रजिस्टर को मिलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि राजगीर और नालंदा विधानसभा क्षेत्र के प्रत्याशियों को 25, 29 अक्टूबर और 2 नवंबर को आय व्यय पंजी का निरीक्षण चुनाव प्रेक्षक द्वारा की जायेगी। किसी भी प्रकार की सूचना आदान- प्रदान के लिए जिला मुख्यालय में टोल फ्री नंबर पर संपर्क स्थापित किया जा सकता हैं। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा 1800 3 4 5 6 2 5 2 और 16112 239610 जारी किया गया है। जिला प्रशासन द्वारा बताया गया कि कोई भी प्रत्याशी रोड शो में एक समय में पांच वाहन का ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

बिहारशीफ विधानसभा के एक प्रत्याशी ने जिला निर्वाचन पदाधिकारी को बताया कि उनके क्षेत्र के रहुई प्रखंड अंतर्गत बरांदी बलिया बिगहा में बुथ नहीं रहने के कारण 4 किलोमीटर दूर ग्रामीणों को वोट देने के लिए जाना पड़ता है। किसी भी कार्यक्रम से जुड़े अनुमति लेने के नियमों के बारे में भी प्रत्याशियों को जानकारी दी गई। डीएम ने प्रत्याशियों के सवालों का समाधान करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि संबंधित पदाधिकारियों और थाना को फिर से रिचार्ज कर दिया जाएगा।

कई प्रत्याशियों ने अंगरक्षक की सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में सवाल उठाया। उसके जवाब में डीएम ने कहा कि जिन्हें अंगरक्षक की जरूरत है वे प्रत्याशी पुलिस अधीक्षक के पास लिखित आवेदन कर सकते हैं। कोविड-19 से संबंधित गाइडलाइन, चुनाव प्रचार में वाहनों के उपयोग से संबंधित गाइडलाइन आदि के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई। नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल द्वारा आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों के बारे में विस्तार रूप से बताया गया। इस संबंध में “क्या करें -क्या ना करें” के बारे में स्पष्टता से जानकारी दी गई।

अभ्यर्थी व्यय लेखा अनुश्रवण कोषांग के नोडल पदाधिकारी राज्य कर संयुक्त आयुक्त एसएन झा द्वारा चुनाव प्रचार संबंधित खर्च की प्रक्रिया तथा इससे संबंधित लेखा-जोखा के संधारण के संबंध में जानकारी दी गई। मीडिया सर्टिफिकेशन एंड मॉनिटरिंग कमिटी के प्रावधानों के बारे में डीपीआरओ द्वारा विस्तृत जानकारी दी गयी। इस अवसर पर सामान्य प्रेक्षक श्रीधर चित्तुरी, शिव सहाय अवस्थी, पुलिस प्रेक्षक भीमाशंकर एस गुलेड, व्यय प्रेक्षक कराले राहुल एकनाथ एवं सौरभ के अलावे पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार, नगर आयुक्त अंशुल अग्रवाल, विभिन्न कोषांग के नोडल एवं वरीय पदाधिकारी एवं अन्य उपस्थित थे।

Comments are closed.