प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन में जदयू ने फूंका चुनावी बिगुल

अमानुल हक की रिपोर्ट
बेतिया: बिहार के काम की चर्चा देश-विदेश में हो रही है। ऐसा कोई क्षेत्र नहीं जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काम नहीं किया। शिक्षा से लेकर बिजली की रोशनी से राज्य को जगमग किया। दूसरी ओर संविधान बचाओ यात्रा में निकले लोग उसकी धज्जियां उड़ा रहे हैं। इस लिए होने वाले बड़े दंगल के लिए तैयार हो जाइए। नेतृत्व देखने के बाद ही वोट दीजिए व दिलवाइएगा। ये बातें जदयू के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद वशिष्ठ नारायण सिंह महाराजा स्टेडियम में आयोजित प्रमंडलीय कार्यकर्ता सम्मेलन में कही। उन्होंने कहा कि नीतीश ने बीमारू से विकसित राज्य की ओर बिहार को अग्रसर किया। इससे बिहार देश के नक्शे पर दिखने लगा है। उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि खेत में लगी फसल की तरह पार्टी की रखवाली करें। चुनाव के दिन बूथ पर एक-एक वोट एनडीए के पक्ष में गिरवाएं। पार्टी के प्रदेश महासचिव सह सांसद आरसीपी सिंह ने कहा कि जिलास्तरीय के बाद प्रमंडलीय सम्मेलन की शुरुआत चंपारण से हुई है। देश में हुई क्रांति की शुरुआत यही से हुई थी। उसमें सफलता भी मिली थी, अब फिर से क्रांति की जरूरत है। प्रमंडल के आठों सीटों पर एनडीए को जिताएं और नीतीश कुमार के हाथों को मजबूत करें। देश में नीतीश जैसा दूसरा मुख्यमंत्री नहीं है। वे पहले कार्ययोजना तैयार करते हैं, फंड की व्यवस्था कर उसे लागू करने बाद घोषणा करते हैं। कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं कि एनडीए आरक्षण खत्म कर देगा। लेकिन आपको भ्रम में पड़ने की जरूरत नहीं है। एनडीए नए लोगों को आरक्षण दे रही है। निजी व कांट्रैक्ट वाली नौकरियों में भी एनडीए दलित-पिछड़ों को आरक्षण देगी। आरसीपी ने कहा कि विश्वविद्यालयों में आरक्षण खत्म करने का भी भ्रम फैलाया जा रहा है।

Comments are closed.