प्लांट से फैल रहे प्रदूषण के विरोध में नगर वासियों ने किया सड़क जाम

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- सड़क निर्माण में इस्तेमाल होने वाले गिट्टी,पीच के लिए बनाए गए मिक्सचर प्लांट से फैल रही प्रदूषण के विरोध में नगर परिषद के निमारंग मुहल्ले वासियों ने जमुई-खैरा मुख्य मार्ग को निमारंग मुहल्ले के समीप जाम कर दिया। जाम के दौरान काफी संख्यां में महिलाएं व पुरुष शामिल थे। इस दौरान आक्रोशित लोगों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाज़ी की। साथ ही सड़क के दोनों छोर को जाम कर प्रदर्शन करने लगे। मुहल्लेवासियों का आरोप था कि इस रोड में तीन मिक्सचर प्लांट है। जो लोगों के स्वास्थ्य में मीठा जहर घोल रही है। प्लांट से निकलने वाले धूल-धुंए से वातावरण प्रदूषित हो रहा है साथ ही कई लोग इस प्रदूषण के कारण गंभीर बीमारियों के चपेट में आ गए हैं। जनलोगों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि इतनी बड़ी प्लांट सड़क किनारे आबादी वाले इलाके में चलने के बावजूद जिला प्रशासन द्वारा इसके खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं कर रही है। एक ओर बिहार सरकार प्रदूषणमुक्त करने के लिए विभिन्न प्रकार के नियम बना रहे हैं तो दूसरी ओर उनके ही अधिकारी प्रदूषण फैलाने के लिए खुली छूट दे रहे हैं। नगर वासियों ने जिलाधिकारी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।साथ ही कहा कि अगर जिला प्रशासन इस प्लांट पर अंकुश नहीं लगाती है तो ऐसे में हम सबों को आने वाले समय में दिल्ली से भी बत्तर हालात का सामना करना पड़ सकता है। मौके पर दुलारी देवी,मालती देवी,पूनम देवी,सुमित्रा देवी,सरिता,चिंता,ललिता,मंजू देवी,सौदागर साव,नरेश साव,जितेंद्र जाव,उमेश साव सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।
———–
-तीन वर्ष पूर्व भी किया गया था सड़क जाम

मुहल्ले वासियों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि कई बार पदाधिकारी से इसकी शिकायत की गई,
लेकिन अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई। तीन वर्ष पहले भी प्लांट को बंद करने व फैल रही प्रदूषण के विरोध में सड़क जाम किया गया था। उस
वक्त आश्वासन जिलाधिकारी द्वारा 15 दिन में कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम हटवा दिया गया था। उनलोगों ने बताया कि
इस रास्ते में तीन फैक्ट्री से निकलने वाले जहरीले धुएं से नीमारंग,मरकट्‌टा, इंदपै सहित कई गांव व मुहल्ले के लोग प्रभावित होकर बीमार पड़ रहे हैं।
———
-एसडीओ, एसडीपीओ के आश्वासन के बाद हटा जाम

इधर जाम की सूचना के बाद मौके पर पहुंचे एसडीओ लखीन्द्र पासवान,
एसडीपीओ रामपुकार सिंह,बीडीओ पुरुषोत्तम त्रिवेदी,सीओ दीपक कुमार द्वारा लोगों को समझा-बुझाकर जाम हटवाने के प्रयास में जुटे रहे
लेकिन लाेग लगातार कार्रवाई की मांग पर घंटों अड़े रहे। किसी तरह कड़ी मोशक्कत व आश्वासन के ढाई घंटे बाद जाम को हटाया जा सका। इस संबंध में एसडीओ लखीन्द्र पासवान ने बताया कि लोगों के आवेदन देने पर प्लांट के कागजात और प्रदुषण विभाग से इसकी जांच कराकर जो भी उचित होगा वह कार्रवाई की जाएगी। वहीं एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने कहा कि फैक्ट्री के द्वारा
लाईसेंस किस मानक से लिया गया है इसकी जांच करवाई जाएगी और फिर यदि वे
मानक को नहीं मान रहे होंगे ताे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Comments are closed.