फसलों का प्रसंस्करण कर मूल्य संवर्धन करने की जरूरत;-अधिष्ठाता

रिपोर्ट ;- प्रो.सुभाष चंद्र कुमार,समस्तीपुर
पूसा ;-डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विवि पूसा के कृषि अभियंत्रण महाविद्यालय में महिला किसानों के लिए पोस्ट हार्वेस्ट प्राइमरी प्रोसेसिंग एंड वैल्यू एडिशन के विषय पर एक दिवसीय जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। प्रशिक्षण सत्र की अध्यक्षता करते हुए अधिष्ठाता डॉ अम्बरीश कुमार ने कहा कि अन्न भंडारण के क्षेत्र में महिलाओं की अहम भूमिका है। फ़सलों का प्रसंस्करण कर मूल्य संवर्धन करने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्रों में अन्न की सुरक्षित भंडारण की जिम्मेवारी महिलाओं पर ही टिकी हुई रहती है। फ़ूड चयन के क्रम में खेत से पेट तक पहुंचने में गुणवत्तायुक्त अन्न का प्रसंस्कृत किया जाय तो अन्न का मूल्य कई गुना अधिक बढ़ जाता है। कार्यक्रम का विधिवत उद्घाटन विवि के निदेशक अनुसंधान डॉ. मिथलेश कुमार ने किया। इस अवसर पर महिला किसानों को संबोधित करते हुए डॉ. मिथलेश कुमार ने कहा कि वर्तमान समय में फसल उत्पादन के साथ-साथ फसलों का प्रसंस्करण कर मूल्य संवर्धन करने की जरूरत हैं। उन्होंने कहा कि फसल की कटाई के बाद उसका भंडारण और प्रोसेसिंग दो अहम पहलू होते हैं। इन दोनों विषयों पर ध्यान देकर किसान कृषि को और अधिक लाभकारी बना सकते हैं। कार्यक्रम को इनके अलावे विवि के निदेशक प्रसार शिक्षा डॉ. एमएस कुंडू, डीन डॉ. अमरीश कुमार, डॉ. पीडी शर्मा, डॉ. मुकेश कुमार आदि ने भी संबोधित किया। डॉ. अम्बरीश कुमार ने खासकर महिला शशक्तिकरण पर बल दिया। मंच संचालन डॉ. विशाल कुमार व धन्यवाद ज्ञापन इंजीनियर दिनेश रजक ने किया।

Comments are closed.