फिर पुरानी घाट लगेगी मांझी की राजनितिक नाव

रिपोर्ट;-ब्यूरो राम नरेश ठाकुर

पटना: बिहार में चुनाव पूर्व एकवार फिर राजनितिक तापमान बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी का नितीश कुमार से मुलाकात इसका मुख्य कारन माना जा रहा है। महागठबंधन में शामिल राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी के बीच बयानबाजी तेज हो गई है। जिस कारण राजनितिक गलियारे में मांझी का चुनाव पूर्व फिर घर वापसी की चर्चा का बाजार गर्म है। उससे यह कयास लगाया जा रहा है कि मांझी विधानसभा चुनाव से पूर्व फिर पुराने ठिकाने पर लौट आएंगे।

मांझी ने राष्ट्रीय जनता दल पर निशाना साधते हुए कहा कि आरजेडी महागठबंधन में बड़े भाई की भूमिका में है लेकिन वह बड़े भाई की भूमिका का निर्वहन नहीं कर रहा है। इस बयान के बाद आरजेडी के नेताओं द्वारा मांझी पर लगातार बयानबाजी किया जा रहा है। आर जे डी विधायक भाई वीरेंद्र ने कहा की हैसियत के मुताबिक ही किसी को भी सीट दिया जायेगा। माझी महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं बनाए जाने से खफा हैं।

Comments are closed.