बच्चों के बीच दिया गया खसरा रूबैला का टीकाकरण

रमेश शंकर की रिपोर्ट
समस्तीपुर/ताजपुर: जिले के ताजपुर प्रखंड क्षेत्र के शाहपुर बघौनी इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल में खसरा उन्मूलन और रूबैला पर नियंत्रण के लिए टीकाकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमे स्कूल के अलावा ग्रामीण बच्चों को भी टिका दिया गया। वहीँ स्कूल के संरक्षक तथा विश्व युवा सशक्तीकरण संघ के प्रदेश महासचिव आसिफ इकबाल ने बताया की लगभग 300 बच्चों को जोकि 9 से लेकर 14 वर्ष के थे उनको यह टीका दिया गया। भारत सरकार के इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए तथा खसरा रूबैला उन्मूलन पर नियंत्रण के लिए सरकार के इस प्रयास को सराहनीय कदम बताते हुए सहयोगी संचालक तथा विश्व युवा सशक्तिकरण संघ के प्रमंडल प्रभारी शहबाज जाफरी ने भी इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। उन्होंने बच्चों को इस टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया। इस मौके पर स्कूल के वरीय शिक्षक अजय कुमार, संजीव कुमार, धीरज कुमार, शबनम खातून, आबिदा खातून, सोफिया जास्मीन, संयोगिता सिंह, उर्वशी सिंह, आशीष सिंह, विनय कुमार तथा सूरज कुमार के अलावा गणेश तथा वार्ड मेंबर रामदयाल पासवान ने भी बच्चों के साथ मिलकर इस कार्यक्रम को सफलतापूर्वक सहयोग दिया। स्कूल के सभी बच्चों को सुबह 10ः00 बजे से दिन के 1ः00 बजे तक चल रहा था यह अभियान। जब की ग्रामीणों के बच्चों को शाम तक टीकाकरण चल रहा था। टीकाकरण के बाद किसी बच्चों को किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुआ। वहीँ आसिफ इकबाल ने बताया कि इस टीकाकरण के बारे में जितनी भी अफवाहें फैलाई गई हैं वह सारी की सारी भ्रामक और गलत है। इस टीकाकरण से बच्चों को सिर्फ लाभ होना है। शिक्षक मोहम्मद नियाज़ उर्फ हीरा ने बच्चों को इस टीकाकरण को दिलवाने के लिए अभिभावक को प्रेरित किया। उन्होंने कहा यह टीकाकरण बच्चों के स्वास्थ्य के लिए तथा आने वाले भविष्य के लिए लाभदायक है। इस मौके पर वरिष्ठ उर्दू पत्रकार तथा मशहूर शायर शैदाबघौनी भी ने भी सरकार के इस कार्यक्रम को बच्चों के लिए उपयुक्त तथा सरकार के इस प्रयास को सराहनीय कदम बताया। वहीं एएनएम आभा कुमारी एवं रेनू कुमारी द्वारा टीका करण कार्यक्रम हुआ दोनों एएनएम ने बच्चों को बहुत ही प्यार एवं अच्छे व्यवहार से लोगों का दिल जीत लिया साथ ही सारे बच्चों को टीका लगायी। बताया जाता है कि एक भी बच्चों को किसी तरह की परेशानी जैसे उल्टी या सर दर्द या अन्य कोई मामला नहीं देखने को मिला क्यों की टीका लगाने के बाद आधे घंटे तक छांव में आराम करा कर सभी बच्चों को अपने अपने अभिभावकों के साथ घर भेज दिया गया।

Comments are closed.