बिहार के बेतिया मे जहरीली शराब कांड के दोषियों को गिरफ्तार करने की जोरदार माँग


रिपोर्ट – शाहीन सबा,चंपारण [बिहार ]
चंपारण;-भारत की कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी की पश्चिम चम्पारण के जिला मंत्री प्रभुराज नारायण राव , लोक संघर्ष समिति के वरिष्ठ नेता भाई पंकज तथा माकपा जिला कमिटी सदस्य तथा ट्रेड यूनियन नेता नीरज बरनवाल ने संयुक्त रुप से बयान दिया है कि तीन नवंबर की रात में दक्षिण तेल्हुआ पंचायत के दलित बस्ती वार्ड न. 3 में प्रकाश राम नामक शराब विक्रेता से शराब पीने वाले 30 से ज्यादा लोगों में से 15 लोगों की मौत प्रकाश का पर्व दिवाली के दिन हो गई । बाकी बचे हुए लोगों का जगदीशपुर ताज हॉस्पिटल , गवर्मेंट हॉस्पिटल बेतिया तथा आशा हॉस्पिटल खुशी टोला , बेतिया इलाज चल रहा है l

जहरीली शराब पीने वालों का गवरमेंट मेडिकल अस्पताल बेतिया में इलाज के दौरान सरकारी अधिवक्ता रमेश गिरी के साथ मिलने से पता चला की 30 से ज्यादा लोग उस रात संध्या में शराब पिए और घर चले गए । घर पर तबीयत बिगड़ते देख जागरुक घर के अभिभावक गण शराब पीने वाले व्यक्ति को लेकर अस्पताल की ओर चल दिए । कुछ दूसरे लोग जो इंतजार करने में लगे रहे , वैसे लोगों की इलाज के अभाव में मौत हो गई ईलाज के क्रम में अस्पताल में भी कई लोगों की मौत हुई है ।

गवर्नमेंट हॉस्पिटल बेतिया में भर्ती दुखन राम , देवेन्द्र राम , विकास राम , राम प्रकाश राम जिन को दूसरी मंजिल पर भेज दिया गया है ।उसमें से रामप्रकाश राम की तबियत बिगड़ते देख तथा परिजनों के आग्रह पर अस्पताल अधीक्षक को उन्हें आपातकालीन वार्ड में भर्ती करने का सुझाव दिया गया।
नीतीश सरकार ने शराबबंदी की घोषणा तो कर दी । लेकिन उनके मद्ध निषेद मंत्रालय , पदाधिकारियों ,पुलिसकर्मियों द्वारा शराब माफियाओं से पैसे की उगाही कर घर घर शराब पहुंचाने तथा गांव गांव में नाजायज शराब बनाकर लोगों को मौत के मुंह में भेजा जाता रहा ।

उन्होंने मांग किया है कि घटना की ऊंच स्तरीय जांच कर दोषी अपकारी पदाधिकारियों , नौतन और जगदीशपुर थाना के पुलिसकर्मियों तथा नाजायज कारोबारियों पर मुकदमा कर जेल भेजा जाय तथा मृतक सभी परिवार को 6 लाख रुपए मुआवजा दिया जाय ।

Comments are closed.