मझौलिया के मजदूर की चेन्नई में पीट-पीटकर हत्या, शव पहुँचते ही मचा कोहराम

अमानुल हक की रिपोर्ट
बेतिया/मझौलिया: गवहीं विवाद को लेकर एक संवेदक अखिलेश यादव ने सुनियोजित ढंग से काम का झांसा देकर मजदूर नितेश कुमार (21)को चेन्नई ले गया और वही पर मजदूर की पीट पीटकर हत्या कर दी। घटना बिगत 21 मार्च की है। सुचना पर पहुंचे मजदूर के पिता अमेरिका यादव शव के साथ गावँ पहुंचे। शव देखते ही ग्रामीणों का आक्रोश बढ़ गया। परिजनों के चित्कार से वातावरण गमगीन हो गया। ग्रामीणों की भीड़ उमड़ी। मृतक के पिता अमेरिका यादव ने इस वावत मझौलिया थाना में एफआईआर कर संवेदक अखिलेश यादव सहित सुरेंद्र यादव, धुरी यादव, रोबिन यादव, चन्दन कुमार को आरोपित किया है। तीन अन्य अभियुक्तों परमा यादव ,विनय यादव और रंजन कुमार पर संलिप्तता जाहिर किया है। जो कुर्मी टोला सुगौली के निवासी है। उन पर भी हत्या की साजिश रचने का आरोप है। अमेरिका यादव ने बताया कि उसका पुत्र नीतीश कुमार चेन्नई के कगयेम राइस मिल में मजदूरी का काम करता था। वही उसकी पीट पीटकर हत्या कर दी गई। उसके शरीर पर अनगिनत चोट के धब्बे है। मृतक की मां सुकांति देवी, बड़ा भाई राकेश यादव, छोटा भाई तूफान यादव, का रोते-रोते बुरा हाल है। समाज सेवी पारसा निवासी कामेश्वर सिंह ने बताया कि नितेश कुशल सरल स्वभाव का व्यक्ति था। इसकी हत्या से गांव में शोक की लहर है।

Comments are closed.