मनपा के मना करने के बाद भी कंपनियां कर रही है कानून का उल्लंघन


आर.पी.मौर्या
वसई। वसई-विरार शहर मनपा क्षेत्र में चल रही औद्योगिक कंपनियों के कचरे की हेराफेरी ने मनपा का सिरदर्द बढ़ा दिया है और यह कंपनियां रात के अंधेरे में अपनी फैक्टरियों से निकलने वाला कूड़ा कचरा एक दूसरे के क्षेत्र में सड़क किनारे डाल देती हैं। कंपनियों की इस हरकत से साफ-सफाई में पहले से पिछड़ी वसई-विरार मनपा की और किरकिरी हो रही है। कंपनी संचालक नियम-कायदों का उल्लंघन कर सैकड़ों टन कचरा चोरी-छिपे हाइवे व आसपास की सड़कों पर फेंक देते हैैं। मनपा का कहना है कि रात के समय कंपनी वाले कचरा डाल रहे हैं, जिससे पर्यावरण के साथ-साथ लोगों को नुकसान भी पहुचाया जा रहा है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार वसई-विरार में छोटी-बड़ी से लगभग 4 हजार कंपनियां है। इनसे निकलने वाला सैकड़ो टन कचरा रात के समय चोरी छिपे मुंबई-अहमदाबाद हाइवे के आसपास सड़क किनारे फेंक देते है और मनपा के मना करने के बाद भी ये कंपनियां कानूनों का उल्लंघन कर रही है। मनपा का कहना है कि कौन-सी कंपनियां रात के समय कचरा डाल रही है, हम उसका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। इसका पता चलने पर उन कंपनियों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। स्थानीय लोगों का कहना है कि एक तो पहले ही मनपा शहर का कचरा उठाने में असमर्थ रही है और फिर दूसरी तरफ कंपनी वाले भारी मात्रा में कूड़ा-कचरा सड़कों पर फेंक रहे है। इससे लोगों के साथ-साथ पर्यावरण को भी भारी नुकसान पहुंच रहा है।

Comments are closed.