मनसे ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आक्रामक रुख धारन किया


आर.पी.मोर्या
मुंबई | महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे)ने एक बार फिर मनपा में चल रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ आक्रामक रुख धारन किया है और फेरीवालों के खिलाफ मुहिम शुरू कर चर्चा में रही मनसे अब फेरीवालों के बहाने मनपा के वार्ड ऑफिसरों को निशाना बनाया गया है | मनसे की तरफ से बुधवार को मुंबई मराठी पत्रकार संघ भवन में ‘वार्ड ऑफिसर चोर है ‘शीर्षक के तहत फोटो प्रदर्शनी लगायी गई है और यह बताने का प्रयास किया गया कि मनपा के अधिकारी पैसा लेकर भीड़ भाड़ वाले इलाके में फेरीवालों को बैठते हैं जिसका खामियाजा राहगीरों एवं स्थानीय लोगों को भुगतना पड़ता पड़ रहा है |
पिछले दिनों फेरीवालों को हटाने को लेकर मनसे पदाधिकारियों एवं जी/दक्षिण विभाग के सहायक मनपा आयुक्त देवेंद्र जैन से विवाद हुआ था | जिसके बाद मनसे महासचिव संदीप देशपांडे एवं विभाग प्रमुख पूर्व नगरसेवक संतोष धुरी ने सोशल मिडिया पर एक डिजिटल आंदोलन शुरू किया गया था और मनसे की अपील से प्रभावित अनेक लोगों ने अपने इलाके के अवैध फेरीवालों का मोबाइल से फोटो निकाल कर उसे अपने फेस बुक अकाउंट पर पोस्ट किया गया | मनसे ने फेस बुक अकाउंट पर पोस्ट किये गए फेरीवालों के फोटो की प्रदर्शनी लगाने का निर्णय लिया था और मनसे के वरली विभाग प्रमुख संतोष धुरी ने बताया कि मनपा अधिकारियों की सांठ -गांठ की वजह से ही फेरीवाले जहां तहां कब्ज़ा जमा रहे हैं | यह सब वार्ड ऑफिसर की संज्ञान में होता आ रहा है | यदि वार्ड ऑफिसर ईमानदारीपूर्वक काम करते तो किसी भी तरह की अवैध गतिविधि नहीं हो पाएगी |

Comments are closed.