मानसिक जांच कर क्वारंटाइन प्रवासी मज़दूरों को किया गया जागरूक

-मानसिक स्वास्थ्य विभाग के सदस्यों द्वारा की जा रही जांच

-पोलिटेक्निक कॉलेज सहित विभिन्न्न क्वारंटाइन केंद्रों पर किया गया जांच

रिपोर्ट, मो. अंजुम आलम, जमुई (बिहार)
जमुई: कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा को लेकर लगाए गए लॉक डाउन के दौरान जिले के विभिन्न्न जगहों पर क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है। जिसमें प्रवासी मजदूरों को रख कर निगरानी की जा रही है। क्वारंटाइन सेंटर में भर्ती प्रवासी मज़दूरों की मानसिक संतुलन सामान्य बनी रहे इसके लिए विभाग द्वारा क्वारंटाइन हुए मजदूरों की मानसिक जांच करने वो जागरूक करने का निर्देश दिया गया था। इसको लेकर मानसिक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा क्वारंटाइन प्रवासियों की काउंसिलिंग की गई।

इस दौरान पॉलिटेक्निक कॉलेज और दबिल पंचायत सहित विभिन्न्न जगहों पर बने क्वारंटाइन केंद्रों में भर्ती प्रवासी मज़दूरों की मानसिक जांच सदर अस्पताल में मौजूद जिला मानसिक स्वास्थ्य विभाग के सायकोलॉजिस्ट उदय कुमार, सीआरए मो. साबीर आलम और सीएनसीएम प्रियंका कुमारी के द्वारा किया गया। साथ ही मानसिक तनाव दूर रखने का तरीका बताया गया। वहीं टीम के सदस्यों ने प्रवासियों को बताया कि चिंता न करें, 8 घंटे सोएं, अपने प्रियजनों से बात करें, कोई भी जानकारी पर तुरंत विश्वास न करें सहित अन्य प्रकार की जानकारी दी गई। टीम के लोगों ने बताया कि जिले में जितने भी स्थानों पर प्रवासियों को रखा गया है उक्त सभी स्थानों पर जाकर उन्हें जागरूक करने का कार्य किया जाएगा।

टीम के सदस्यों ने कहा कि सिविल सर्जन डा. विजयेंद्र सत्यर्थी, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. विमल कुमार चौधरी एवं जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुधांशु नारायण लाल के द्वारा टीम को पूरा सहयोग मिल रहा है। जिस कारण टीम के सदस्य प्रवासियों को जागरूक करने का कार्य काफी तेजी से कर रही है।

Comments are closed.