मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का कार्यपालक निदेशक ने किया समीक्षा।

 

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)

जमुई:-गुरुवार -को समाहरणालय स्थित एनआईसी कक्ष में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के क्रियान्वयन को लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा योजना की समीक्षा की गई। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान स्वास्थ्य विभाग के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार द्वारा अब तक की उपलब्धियों की समीक्षा की गई। अधिक से अधिक लाभुकों को योजना का लाभ मिल सके इसके लिए कई अहम दिशा व निर्देश दिये गये। योजना के सफल क्रियान्वयन को लेकर कार्यपालक निदेशक ने जिले के पदाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि संपूर्ण टीकाकरण के बाद बच्ची के मां-पिता को मिलने वाली 2 हजार की राशि में जमुई जिला, प्रदेश में 10वें नंबर पर है। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत संपूर्ण टीकाकरण योजना में जमुई जिला काफी पीछे चल रहा है। उन्होंने कहा कि इस योजना का ज्यादा से ज्यादा लाभ देने के लिए बेहतर से प्रचार-प्रसार किया जाए ताकि बच्ची के माता-पिता इस योजना का लाभ उठा सकें। मौके पर मौजूद अधिकारियों ने बताया कि जिले में अब 455 बच्ची के माता-पिता को इस योजना का लाभ दिया जा चुका है। कार्यपालक निदेशक ने निर्देश देते हुए कहा कि लोगों को जागरूक करने के लिए सभी स्वास्थ्य संस्थान में इस योजना से संबंधित बैनर-पोस्ट लगाया जाए। साथ ही आशा कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया जाए कि इस योजना की पूरी जानकारी घर-घर तक पहुंचाने का कार्य करें, ताकि लोग इस योजना का लाभ उठा सकें। इस अवसर पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डा. विमल कुमार चौधरी, डीपीएम सुधांशु नारायण लाल, जिला लेखा प्रबंधक शशिभूषण पांडेय, डब्लूएचओ के सदस्य, यूनिसेफ के सदस्य सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

Comments are closed.