मैनुफैक्चरिंग हब के रूप में विकसित हो रहा पश्चिम चम्पारण जिला , उपलब्ध करायी जायेगी सारी सुविधाएं: एस. सिद्धार्थ

रिपोर्ट;शहीन सबा, बेतिया।
बेतिया;- समाहरणालय सभाकक्ष में आज 29.11.2020 को जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना अंतर्गत संचालित औद्योगिक नव प्रवर्तन स्टार्टअप जोन के तहत किये जा रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा उद्योग विभाग, बिहार एवं वित्त विभाग, बिहार के प्रधान सचिव, एस. सिद्धार्थ द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रधान सचिव महोदय पश्चिम चम्पारण जिले में ही विभिन्न उत्पादों का प्रोडक्शन करने वाले विभिन्न उत्पादों से जुड़े उद्यमियों से रूबरू भी हुए तथा उनके द्वारा बनाये गये विभिन्न प्रोडक्ट्स का जायजा भी लिया।

इस अवसर पर उन्होंने उद्यमियों द्वारा अबतक किये गये कार्यों की प्रशंसा की गयी तथा उनका उत्सावर्धन किया। उन्होंने कहा कि पश्चिम चम्पारण जिले के मैनुफैक्चरिंग हब के रूप में विकसित किया जायेगा तथा उद्यमियों को हर संभव मदद हर कीमत पर उपलब्ध करायी जायेगी। उद्यमियों के समक्ष आने वाली प्रत्येक समस्याओं का समाधान त्वरित गति से किया जायेगा तथा इस जिले तथा राज्य का नाम देश और विदेश में रौशन हो सके।

उन्होंने उद्यमियों का आह्वान किया कि मैनुफैक्चरिंग हब बनाने की दिशा में आप सभी समन्वित प्रयास करके अन्य उद्यमियों को भी प्रेरित करें ताकि वे भी अपना सेटअप इसी जिले में अधिष्ठापित करें। उन्होंने कहा कि कोई भी इच्छुक व्यक्ति अगर इस जिले में अपना प्रोडक्शन चालू करना चाहता है तो उसे हरसंभव सहयोग किया जायेगा।

प्रधान सचिव महोदय ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा यहां के विभिन्न उत्पादों की मार्केटिंग आदि हेतु देश के विभिन्न औद्योगिक शहरों में शोरूम भी उपलब्ध कराया जायेगा ताकि ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट्स की बिक्री हो सके। उन्होंने कहा कि दिल्ली वगैरह शहरों में यहां के बनाये उत्पादों को पहुंचाने हेतु भी ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था राज्य सरकार द्वारा की जायेगी।

इस अवसर पर उपस्थित प्रधान सचिव, गन्ना उद्योग विभाग, डाॅ. एन. विजयलक्ष्मी ने कहा कि मुझे यहां आकर बहुत ही अच्छा लग रहा है। कोराना काल में जो भी समस्याएं आयी उसको चुनौती के रूप में लेते हुए जिलाधिकारी कुंदन कुमार के नेतृत्व में यहां बहुत ही अच्छा कार्य हुआ है। इस कार्य को आगे बढ़ाने वाले सभी अधिकारियों, कर्मियों को शुभकामनाएं। आप सभी इसी तरह पूरी तत्परतापूर्वक इस कार्य को आगे बढ़ाते रहे। उन्होंने कहा कि यहां के कामगार अत्यधिक उर्जावान है तथा आत्मविश्वास से लबरेज है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि आप सभी की कड़ी मेहनत की बदौलत यह जिला शीघ्र ही मैनुफैक्चरिंग हब बनेगा।

उन्होंने कहा कि आप सभी इस तरह से कार्य करें कि आगे भी देश और दुनिया बिहार का लोहा माने। उन्होंने कहा कि मैनुफैक्चरिंग हब में महिलाओं की भूमिका भी समाहित करनी होगी। सभाकक्ष में कुछ महिला उद्यमी भी दिखाई दे रही है, इन सभी को ढे़र सारी शुभकानाएं। मैनुफैक्चरिंग हब बनाने हेतु महिलाओं की सहभागिता महिला सशक्तीकरण को बल देगा।

जिलाधिकारी, पश्चिम चम्पारण, बेतिया, कुंदन ने प्रधान सचिव को धन्यवाद दिया तथा कहा कि आपके कुशल मार्गदर्शन तथा सहयोग की बदौलत पश्चिम चम्पारण जिला मैनुफैक्चरिंग हब अवश्य बनेगा।

इस अवसर पर बेतिया समाहरणालय परिसर में एक कैम्प लगाया गया जहाँ विभिन्न उत्पादों के स्टॉल लगाए गए थे। इस कैम्प में जिंस, शर्ट, जैकेट का निर्माण करने वाले म0 शोएब ताहिर, लहंगा एवं साड़ी पर कढ़ाई का काम करने वाली, अर्चना कुमारी कुशवाहा, अरुण कुमार, साड़ी एवं सूट का निर्माण करने वाले आमिल हुसैन, जिंस का निर्माण करने वाले अखिलेश चौधरी, शर्ट-पैंट का निर्माण करने वाले राकेश पंडित, शर्ट-लोअर का निर्माण करने वाले मृत्युंजय कुमार, शर्ट-पैंट का निर्माण करने वाले नेयजुद्दीन अंसारी, लेडीज दुपट्टा एवं मच्छरदानी बनाने वाले फिरोज कैसर, लेगिंग्स, लोअर एवं ट्रैक सूट बनाने वाले इद्रीश अंसारी, जैकेट एवं बंडी का निर्माण करने वाले मैनुद्दीन अंसारी, लेडीज जैकेट एवं गाउन का निर्माण करने वाले रंजना सोनी, जैकेट्स एवं बैग का निर्माण करने वाले मुगले आजम अंसारी, लेडीज सूट बनाने वाले धर्मवीर प्रसाद एवं स्वेटर बनाने वाले मिनकेतन पांडेय द्वारा स्टॉल लगाया गया था, जिसकी पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा की गई थी।

Comments are closed.