मोहन भागवत के भाषण पर संतों ने किया हंगामा

ऋषी तिवारी

प्रयागराज | प्रयागराज में कुंभ के बीच हो रही धर्म संसद के बीच राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि राम मंदिर से एक इंच भी समझौता नहीं होगा | हमें उसी तरह का राम मंदिर चाहिए जैसा हम लोगों को दिखाते रहे हैं | भागवत के धर्म संसद में भाषण दिए जाने के बाद संतों ने हंगामा करना शुरू कर दिया | धर्म संसद में करीब दो दर्जन से ज्यादा संतों ने ‘तारीख बताओ, तारीख बताओ’ के नारे लगाना शुरू कर हैं |
इसके साथ ही भागवत ने कहा, ‘इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी माना है कि नीचे मंदिर है और वहां जो भी बनेगा राम मंदिर ही बनेगा | हमने मोदी सरकार से कहा था कि हम आपको तीन साल नहीं छेड़ेंगे | हमने उग्र भाषा में सरकार से कहा कि राम मंदिर बनना चाहिए | वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि राम मंदिर हमारी प्राथमिकता नहीं है | साथ ही भागवत ने कहा कि सरकार अगर मंदिर के लिए काम करेगी तो राम का आशीर्वाद मिलेगा |
भागवत ने कहा कि आवेश और आक्रोश बनाए रखना है, लोगों को आरएसएस और संतों पर भरोसा है और 6 अप्रैल को एक करोड़ लोग मंदिर के लिए मंत्रोच्चार करेंगे | इस बार चुनाव हैं और मंदिर बनाने वालों को चुनना ही पड़ेगा | देश हिन्दुओं का है और दूसरे देशों के सताए हिन्दूओं को नागरिकता देने वाला नियम बनाने वाली ये सरकार है | हम सरकार के लिए कठिनाई नहीं पैदा करनी बल्कि मदद करनी है | भव्य राम मंदिर बनेगा, हम सकरात्मक सोचेंगे, निराशा मन में मत लाएं | सनातन धर्म के विजय का काल आया है |

Comments are closed.