राजगीर में कोरोना का कहर, एसडीओ समेत 39 सीआरपीएफ जवान संक्रमित

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास नालंदा।
नालंदा;-वैश्विक महामारी कोरोना का कहर रुकने की बजाय अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन केंद्र राजगीर में दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है।आम से खास लोग, जवान से अधिकारी तक संक्रमित हो रहे हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढ़ने से राजगीर तथा आसपास के प्रतिष्ठानों और गांव में दहशत भी बढ़ती जा रही है। राजगीर के अनुमंडलीय अस्पताल में रैपिड एंटीजन किट से नियमित कोरोना की जांच की जा रही है। अब तक किए गए कोरोना की जांच में 119 पॉजिटिव केस मिले हैं। राजगीर अनुमंडल, सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर, बिहार पुलिस अकादमी, निर्माणाधीन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम और नालंदा आयुध निर्माणी में भी कोरोना ने अपना जाल फैला दिया है। राजगीर एसडीओ, उनके कर्मी और परिवार के सदस्य को भी कोरोना संक्रमण ने चपेट में ले लिया है। इसी प्रकार केवल तीन दिन की जांच में सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर में 39 कोरोना पॉजिटिव केस मिले हैं। यह राजगीर के किसी भी कार्यालय का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इतनी बड़ी संख्या में करोना पॉजिटिव केस मिलने से ट्रेनिंग सेंटर में हड़कंप मच गया है। इसके अलावा 50 जवानों (एटीएम) का सैंपल शुक्रवार को ली गई है, जिसका सैंपल जांच के लिए वर्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान, पावापुरी भेजा गया है। राजगीर के अनुमंडलीय अस्पताल में नियमित रूप से कोरोना का टेस्ट किया जा रहा है। इसके अलावा सीआरपीएफ ट्रेनिंग सेंटर पुलिस एकेडमी एवं अन्य जगहों पर कैंप लगाकर कोरोना की जांच की जा रही है। अनुमंडलीय अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ उमेश चंद्र ने बताया कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल में उपलब्ध दवा मुहैया कराई जा रही है। इसके अलावा उन्हें होम कोरोन्टाइन करने की सलाह दी जाती है। उन्होंने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगाने से संक्रमण पर हद तक काबू पाया जा सकता है। बिना जरूरत भीड़भाड़ वाली जगहों से बचने के लिए उन्होंने सुझाव दिया है।

Comments are closed.