राजगीर में बनेगा हाईटेक नर्सरी, कृषि मंत्री ने किया शिलान्यास

रिपोर्ट : ब्यूरो, राम विलास, नालंदा, बिहार।
राजगीर;-अंतरराष्ट्रीय पर्यटन केंद्र राजगीर में हाईटेक नर्सरी का निर्माण एक करोड़ 78 लाख 45 हजार की लागत से कराया जाएगा। कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा बुधवार को इसका शिलान्यास किया गया। राजगीर के आलू बीज गुणन प्रक्षेत्र (कृषि फार्म) की 25 एकड़ जमीन में से 15 एकड़ जमीन पर हाईटेक नर्सरी का निर्माण किया जाएगा। इस हाईटेक नर्सरी में पाली हाउस, शेडनेट हाउस और टनेल हाउस का निर्माण कराया जाएगा, जिसमें विभिन्न प्रकार के फल, फूल और सब्जी की खेती तो की ही जाएगी, उसकी नर्सरी भी तैयार की जाएगी।

तैयार पौधों को किसानों के बीच वितरण किया जाएगा। इस अवसर पर कृषि मंत्री डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि नालंदा के किसान काफी मेहनती और ऊर्जावान है। नालंदा ने धान उत्पादन में चीन का रिकॉर्ड, आलू उत्पादन में ब्राजील का रिकॉर्ड तोड़ा है। प्याज उत्पादन में भी इंटरनेशनल रिकॉर्ड बनाया है। नालंदा के किसानों पर सरकार को गर्व है। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों की आमदनी को दुगना करने के लिए लगातार प्रयास कर रही है।

इसी योजना के तहत खेती के साथ-साथ बागवानी, मछली पालन, मुर्गी पालन, बकरी पालन, मधुमक्खी पालन, मशरूम की खेती आदि पर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों की दोगुणी आय फसल से संभव नहीं है। इसीलिए हॉर्टिकल्चर विभाग द्वारा अनेक कार्यक्रमों को शुरू किया गया है। पिछली बार किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए आम महोत्सव, फूल महोत्सव सहित कई महोत्सवों का आयोजन किया गया था।

मुख्यमंत्री का सपना है कि हर भारतीय की थाली में बिहारी व्यंजन को परोसा जाए। इस पर कृषि विभाग सतत प्रयत्नशील है। कृषि मंत्री ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने और आत्मनिर्भर बनाने के लिए 23 प्रकार के कृषि एलाइड ट्रेनिंग की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग द्वारा किसानों को सॉइल हेल्प कार्ड दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोई भी फसल लगाने के पहले मिट्टी की जांच आवश्यक है।

जांच के अनुरूप ही फसल लगाने से अधिक पैदावार की उम्मीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि बिहार के 90 फ़ीसदी गांवों में कृषि के लिए पर्याप्त बिजली की आपूर्ति हो रही है। डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि सरकार की योजना है कि कम खर्च में अधिक उत्पादन और कम पानी में अच्छी फसल की पैदावार की जा सके। इस पर सरकार लगातार काम कर रही है। बिहार सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि महिलाओं को खाद्य सुरक्षा समूह बनाकर कृषि से जोड़ने का काम किया गया है।

उन्होंने कहा कि सामूहिक खेती के माध्यम से किसानों को आत्मनिर्भर बनाने की पहल की जा रही है। कृषि मंत्री ने राज्यसभा में पिछले दिनों जो हुआ उसे अपमानजनक बताया। उन्होंने कहा कि राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश के खिलाफ जिन लोगों ने अमर्यादित व्यवहार किया है। उससे बिहार का अपमान हुआ है।

राजगीर के हाईटेक नर्सरी में विभिन्न प्रकार के फलों जैसे आम, अमरूद, पपीता आदि की नर्सरी तैयार की जाएगी। इसी प्रकार विभिन्न प्रकार के सब्जियों की खेती के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के फूलों की खेती भी इस नर्सरी में की जाएगी। इसके अलावे सब्जी, फूल, फल की नर्सरी तैयार कर किसानों के बीच वितरण किया जाएगा। इससे किसानों को नई वैरायटी और उत्तम क्वालिटी के पौधारोपण करने से गुणात्मक लाभ होगा। इस अवसर पर राजगीर विधायक रवि ज्योति कुमार, प्रखंड प्रमुख जितेंद्र राजवंशी, उप प्रमुख सुधीर कुमार पटेल, जिला उद्यान पदाधिकारी ज्ञानचंद, प्रखंड उद्यान पदाधिकारी मनोज कुमार, किसान सलाहकार सत्येंद्र कुमार, श्रवण पासवान एवं अन्य उपस्थित थे।

Comments are closed.