राजगीर से पटना के लिए चलेगी इलेक्ट्रिक बस

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास, नालंदा।
राजगीर;-इको पार्क और वेणुवन के बाद राजगीर को नए साल का नया तोहफा मंगलवार को इलेक्ट्रिक बस की मिली है।इलेक्ट्रिक बस परिचालन की निर्धारित तिथि के आठ दिन पहले ही यह सौगात राजगीर को मिली है।सीएम नीतीश कुमार द्वारा हरी झंडी दिखाकर इसे रवाना किया गया. एक करोड़ 20 लाख की लागत वाली इलेक्ट्रिक बस करीब छह बजे राजगीर पहुंचने पर बिहार राज्य पथ परिवहन निगम बस पड़ाव के अधीक्षक गणेश प्रसाद सिंह और स्थानीय लोगों प्रकृति अध्यक्ष मुखिया नवेन्दू झा, जयशंकर प्रसाद, शैलेन्द्र कुमार, अनिल सिंह, सहायक विद्युत अभियंता इंतेजार अहमद एवं अन्य के द्वारा जोरदार स्वागत किया गया।

इसे देखने वालों की भारी भीड़ लग गई।राजगीर से पटना भाया बिहारशरीफ चलने वाली यह लग्जरी बस केवल राजगीर नहीं बल्कि बिहार के लिए नई सौगात है।राज्य का पहला पर्यटन केंद्र राजगीर है, जहां से इलेक्ट्रिक बस का परिचालन शुरू किया गया है।फिलहाल राजगीर पटना के बीच दो गाड़ी का परिचालन किया जाएगा।इसके लिए राजगीर में चार्जिंग प्वाइंट बनाया गया है।बस डिपो कैंपस में लगे बिजली ट्रांसफार्मर के पास ही इलेक्ट्रिक बस का चार्जिंग प्वाइंट बनाया गया है।

मंगलवार की सुबह अशोका लेलिन कंपनी के इंजीनियर मनीष कुमार सिंह द्वारा चार्जिंग प्वाइंट को फाइनल टच दिया गया है।चार्जिंग प्वाइंट स्थल पर प्लेटफार्म और सेड का निर्माण कार्य अभी बाकी है।राजगीर बस पड़ाव के प्रतिष्ठान अधीक्षक गणेश प्रसाद सिंह ने बताया कि राजगीर पटना के बीच चार इलेक्ट्रिक बस का परिचालन किया जाएगा।वातानुकूलित बस का किराया ₹150 और गैर वातानुकूलित बस का किराया 122 रुपए विभाग द्वारा तय किया गया है।

बिहारशरीफ-पटना का किराया 110 रुपये तय किया गया है।उन्होंने बताया कि पटना से सुबह 7:30 बजे और दोपहर 3:30 बजे यह गाड़ी खुलेगी राजगीर से 10:30 बजे सुबह और 6:15 शाम 11:30 बजे और शाम 7:30 बजे खुलेगी उन्होंने कहा कि राज्य ट्रांसपोर्ट की बस नहीं चलने से यहां बुनियादी सुविधाओं की बहुत कमी है।अब बस चलना शुरू होगी तो धीरे-धीरे सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करा दी जाएगी।बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के इस बस पड़ाव की चहारदीवारी कराने और रंगाई पुताई करने का प्रस्ताव भी सरकार को भेजी गई है।


यहां के लोग अब तक 20 से 50 लाख तक के बसों पर ही सफर करते रहे हैं।लेकिन अब उन्हें एक करोड़ 20 लाख की इलेक्ट्रिक बस से सफर करने का मौका मिलेगा।इस लग्जरी बस को देखकर और इसकी कीमत जानकर हर की इच्छा इस बस से सफर करने के लिए मन में गुदगुदी होने लगी है।राजगीर सहित नालंदा जिला के लिए एक करोड़ 20 लाख की लागत वाली बस से सफर का यह पहला अवसर होगा।

इलेक्ट्रिक बस का टिकट काउंटर से नहीं बल्कि कंडक्टर से मिलेगा।बस में ही यात्रियों से किराए की वसूली और टिकट की रसीद काटी जाएगी।यह बस पूरी तरह प्रदूषण मुक्त है।बस के अंदर और बाहर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं।जिसकी निगरानी पटना से की जाती है। इलेक्ट्रिक बस पहुंचते ही देखने वालों की भारी भीड़ बस स्टैंड में उमड़ पड़ी।कोई बाहर से तो कोई बस का गेट खुलते ही सीट पर बैठकर मुआयना करने लगे।राजगीर बस स्टैंड में बनाए गए अस्थाई चार्जिंग प्वाइंट से इलेक्ट्रिक बस का चार्ज कर परीक्षण किया गया।परीक्षण उपरांत चार्जिंग प्वाइंट सफल बताया गया इसकी पुष्टि सरकारी बस पड़ाव के अधीक्षक गणेश प्रसाद सिंह ने की।

Comments are closed.