राजद के आवाहन पर बिहार बंद का दिखा ब्यापक असर

ब्यूरो रमेश शंकर झासमस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर:- जिले में राजद के आह्वान पर बिहार बंद के दौरान सभी प्रमुख चौक -चौराहों पर सड़क जाम कर दिया गया, बाजारों को बंद और रेलगाड़ी को भी रोका गया।जनविरोधी NRC तथा CAA के खिलाफ राजद व सहयोगी दलों द्वारा आहूत बिहार बंद के आलोक में महागठबंधन के कार्यकर्ता ने सड़कों पर उतरे और सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। वहीँ समस्तीपुर जिला मुख्यालय में नगर भवन के पास मुख्य सड़क को जाम कर समस्तीपुर- दरभंगा व समस्तीपुर – पटना जाने वाले मार्ग को जाम कर दिया गया। इसके अलावा विभिन्न जगहों पर महागठबंधन के कार्यकर्ताओ ने सड़क जाम कर विरोध-प्रदर्शन किया। जिसके कारण पूरे जिले की यातायात व्यवस्था ध्वस्त हो गई। वहीँ अस्पताल के एम्बुलेंसो, दवा दुकानों, दूध व अग्निशामक की गाड़ियों और मरीजों को जाम से मुक्त रखा गया। इस प्रदर्शनकारियों का कहना था कि यह कानून न सिर्फ संविधान की मंशा के खिलाफ है। बल्कि पूरे मुल्क की एकता को खतरा पैदा हो गई है।

प्रदर्शनकारियों ने इंकलाब जिंदाबाद और कैब वापस लो के नारे लगाते हुए सुबह से दोपहर तक लगभग 6 से 7 घंटे तक प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के खिलाफ तानाशाही नहीं चलेगी जैसी नारेबाजी की। वहीँ कार्यक्रम की अध्यक्षता राजद जिला अध्यक्ष विनोद कुमार राय ने किया। संचालन कांग्रेस जिलाध्यक्ष मो० अबू तमीम ने किया। तथा धन्यवाद् ज्ञापन रालोसपा जिलाध्यक्ष अनंत कुशवाहा ने ने किया। वहीँ प्रदर्शन में भाग लेने के दौरान स्थानीय विधायक अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने कहा, हमारे देश की आत्मा की रक्षा के लिए मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वह इस संघर्ष में भाग लें। विधायक ने कहा कि संवैधानिक मूल्यों को दरकिनार कर लाया गया सीएए सरकार की हिटलरशाही रवैये का परिचायक है। उन्होनें कहा कि नागरिकता संशोधन कानून संविधान की आत्मा पर हमला है। इस अधिनियम से देश को बांटने का प्रयास किया गया है। इस अधिनियम से आजादी की मांग किया। राजद नेता विधायक श्री शाहीन ने कहा कि संसद से सीएबी पारित होने और एनआरसी को पूरे देश में लागू करने की सरकार की घोषणा से धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणतंत्र को खतरा पैदा हो गया है। भारत के संविधान में स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि देश को धर्म के आधार पर विभाजित नहीं किया जा सकता। सीएए कानून को तुरन्त वापस लिया जाए। यह देश के लिए काला कानून है। जिससे देश में आपसी भाईचारा और शांति खत्म होगा। देश व व्यापक जनहित में केन्द्र को चाहिए कि वह नए नागरिकता क़ानून को वापस लेकर अर्थव्यवस्था की बदहाली, बढ़ती महंगाई व बेरोज़गारी, रुपये की गिरती क़ीमत आदि राष्ट्रीय समस्याओं को दूर करने पर ध्यान केंद्रित करे।

इस मौके पर पूर्व मंत्री रामाश्रय सहनी, राजद जिलाध्यक्ष विनोद कुमार राय, कांग्रेस जिलाध्यक्ष मो० अबू तमीम, रालोसपा जिलाध्यक्ष अनंत कुशवाहा, पूर्व विधान पार्षद रोमा भारती, पूर्व विधायक अशोक प्रसाद वर्मा, राजद नेता प्रोफेसर राजेन्द्र भगत, प्रांतीय नेता फैजुर रहमान फैज, जिला उपाध्यक्ष मुनेश्वर सिंह, जिला उपाध्यक्ष चन्द्रिका प्रसाद सिंह, वरीय नेता रामवरन महतो, विपीन सहनी, नगर परिषद् के सभापति तारकेश्वरनाथ गुप्ता, कांग्रेस के प्रांतीय नेता रामकलेवर सिंह, डा० तरुण कुमार, जिला पार्षद संजीव कुमार राय, जिला राजद प्रवक्ता राकेश कुमार ठाकुर, राजद नेता रामविनोद पासवान, प्रमोद राम, जितेंद्र सिंह चंदेल, रोशन यादव, प्रदीप पासवान, जगदीश राय, उमेश प्रसाद यादव, डा० जितेन्द्र प्रसाद, प्रेम प्रकाश शर्मा, अमरेश राय, रोशन यादव, पिंकी राय, रेणु राज, गुंजन देवी, प्रोफेसर सत्यनारायण राय, अरविन्द शर्मा, विश्वनाथ राम, रालोसपा नेता मो० बेलाल राजा, लालबाबू महतो, मुकेश कुशवाहा, कांग्रेस नेता अखलाकूर रहमान सिद्दकी, रंजू कुमारी, मनोज कुमार राय, नागमणि, विजय कुशवाहा, दीपक यादव, अजित यादव, जयशंकर राय, रविंद्र कुमार रवि, राकेश यादव, मो० युसूफ, मो० परवेज आलम, मदन राय, सुरेश राय, अरविन्द राय, मनोज पटेल, ज्योतिष महतो, मुकेश यादव, विजय यादव, अरुण राय, जितेंद्र यादव, कुंदन राय, बबलू यादव, एहसानुल हक चुन्ने, आलोक राज, सदानंद झा, रामकलेवर ठाकुर, अकबर अली, फैसल आलम मन्नू, भाकपा माले के प्रोफेसर उमेश कुमार, रामप्रीत दास, राजू राय, माकपा नेता रघुनाथ राय, सत्यनारायण सिंह, उपेन्द्र राय, जीवक्ष कुमार, प्रमोद कुमार पप्पू, रामकुमार राय, जयलाल राय, रंजीत राय, राजेन्द्र राम, लालबहादुर पंडित, रिंकू सिंह, संजय नायक, विमल पासवान सहिय इत्यादि लोग मौजूद थे। वही राजद जिला प्रवक्ता राकेश कुमार ठाकुर ने कहा कि बंद शांतिपूर्ण, बेहद सफल, अभूतपूर्व व ऐतिहासिक रही, उन्होंने बंद में अपेक्षित सहयोग के लिए जिले के व्यवसायीगण, किसानो, मजदूरों, विभिन्न समाजिक संगठनो के कार्यकर्ताओ, छात्रों, नौजवानो, शिक्षाविदों सहित सम्पूर्ण जिलावासियों के प्रति आभार प्रकट किया।

Comments are closed.