रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की औषधि योग

 


फोटो – योग करते वीसी एवं अन्य।

रिपोर्ट;ब्यूरो राम विलास,नालंदा।
राजगीर;-विश्व योग दिवस पर नव नालन्दा महाविहार में सोमवार की सुबह केन्द्र प्रायोजित आजादी का अमृत महोत्सव योजना के तहत योगाचार्य के निर्देशन में योगासन और प्राणायाम का आयोजन उत्साहपूर्वक किया गया।वीसी प्रो वैद्यनाथ लाभ की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में सांसद कौशलेन्द्र कुमार भी शामिल हुए।पूर्वी क्षेत्रीय सांस्कृतिक समिति के निदेशक डॉ तापस सामन्त राय, प्रो. जनार्दन उपाध्याय, महाविहार के शैक्षिक एवं शिक्षणेतर कर्मचारीगण एवं अन्य गण्यमान लोगों ने बूंदाबांदी के बीच योगासन और प्राणायाम का अभ्यास किया।

सुश्री सोनाली मल्लिक द्वारा शास्त्रीय नृत्य संगीत प्रस्तुत किया गया।संस्कृत विभागाध्यक्ष प्रो विजय कुमार कर्ण के निर्देशन में छात्रों द्वारा संस्कृत श्लोक -पाठ किया गया।खासियत यह रही कि इस पूरे कार्यक्रम का प्रसारण दूरदर्शन द्वारा किया गया।इस अवसर पर एमपी कौशलेन्द्र कुमार ने योग की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए इसे आधुनिक जीवन शैली के लिए आवश्यक एवं महत्वपूर्ण बताया।उन्होंने कहा कि प्राचीन भारतीय विधा के वैश्विक महत्व को ध्यान में रखते हुए पीएम नरेन्द्र मोदी ने इसे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता दिलाने के लिए सार्थक प्रयास किया है।

अध्यक्षता करते हुए वीसी प्रो. लाभ ने कहा कि योग और प्राणायाम भारत की प्राचीन विरासत है।धर्म और सम्प्रदाय से परे योग मन और शरीर को स्वस्थ्य रहने के लिए किया जाता है।उन्होंने कहा कि इस कोरोना काल में यह और भी सिद्ध हो गया कि शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में योग और प्राणायाम का विशेष महत्व है।कठिन स्थिति में स्वस्थ रखने का सर्वोत्कृष्ट माध्यम योग है।इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा प्रतिभागी कलाकारों एवं छात्रों को पुरस्कृत किया गया।कुलसचिव डॉ एसपी सिन्हा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

Comments are closed.