लोक शिकायत निवारण ने मांगी रिपोर्ट तो सीओ ने खाली जमीन पर दिखा दिया भवन

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:- सरकारी जमीन की रखवाली किस प्रकार हो रही है इसकी बानगी गिद्धौर प्रखंड के कुमरडीह गांव में देखने को मिल रही है। गांव के आम गैरमजरूआ जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की अपील ग्रामीण विमल कुमार मिश्रा द्वारा अक्टूबर 2019 में अनुमंडल लोक शिकायत निवारण जमुई में की गई थी। शिकायत के बाद अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी द्वारा गिद्धौर के अंचलाधिकारी अखिलेश कुमार सिन्हा से जमीन की रिपोर्ट तलब की गई थी। सीओ द्वारा दिसंबर 2019 में उक्त जमीन पर सामुदायिक, स्वास्थ और पंचायत भवन बने होने की रिपोर्ट दी गई थी जबकि उक्त जमीन पर सिर्फ सामुदायिक भवन वर्षों से बनी हुई है जबकि बाकी जमीन पर न तो स्वास्थ्य भवन है और ना ही पंचायत भवन बनी हुई है। जमीन को गांव के ही एक दबंग व्यक्ति द्वारा अतिक्रमण कर घेराबंदी व मुखिया से मिलकर सड़क का निर्माण करा दिया गया है। इस मामले को लेकर विमल कुमार मिश्रा ने 19 नवंबर को आवेदन देकर जिलाधिकारी से जांच की मांग की है। आवेदन में विमल कुमार मिश्रा ने बताया कि गिद्धौर प्रखंड के कुमारडीह गांव में खाता संख्या-70 ,खसरा- 404,401 , रकबा- 2.03 डिसमिल एवं 0. 91 डिसमिल और 0.15 डिसमिल जमीन पोखराज स्थान के नाम दर्ज है। परंतु कुछ लोगों ने खाता संख्यां- 70 खसरा- 403,रकवा- 0.19 डिसमिल जो आम गैरमजरुआ खाता की जमीन है उसे बंदोबस्ती करा लिया गया है। कुमारडीह गांव के खाता संख्या- 70 खसरा-403,401 रकबा 2.00 डिसमिल एवं 0.15 डिसमिल जमीन गैरमजरूआ आम पंजी-2 में अंकित है। जिसमें मात्र एक सामुदायिक भवन है। लेकिन अंचलाधिकारी द्वारा गलत सूचना दी गई है कि उक्त जमीन पर स्वास्थ्य व पंचायत भवन बना हुआ है जो उक्त खाता खसरा पर बना ही नहीं है। यह सारा जमीन गांव के ही वीरेंद्र मिश्रा द्वारा रास्ता एवं जमीन पर अतिक्रमण कर लिया गया है। इस संबंध में उन्होंने डीएम धर्मेंद्र कुमार को आवेदन देकर जिले के पदाधिकारी से स्थल की जांच करवाने की मांग करते हुए जमीन को अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की है।
———-
-कहती है अंचलाधिकारी

प्रभारी अंचलाधिकारी भारती राज ने बताई कि मेरे कार्यकाल में मामला संज्ञान में नहीं आया है। अगर ऐसी कोई बात है तो मामले की जांच की जाएगी।
———–
-कहते हैं जिलाधिकारी

मामला मेरे संज्ञान में आया है। मामले की जांच कर विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।

Comments are closed.