विदेशी स्टूडेंट्स के बीच राहत सामग्री वितरण


रिपोर्ट;राम विलाश , राजगीर.
राजगीर;-वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण पर नियंत्रण पाने और सोशल डिस्टेंस बनाने के लिए सरकार द्वारा लागू लॉकडाउन का प्रभाव अब दिखने लगा है. नव नालंदा महाविहार डीम्ड यूनिवर्सिटी में एशिया महादेश के कई देशों के स्टूडेंट रहकर पढ़ाई करते हैं. यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर वैद्यनाथ लाभ द्वारा थाईलैंड, म्यांमार, लाओस, बांग्लादेश, श्रीलंका, नेपाल आदि देशों के फॉरनर स्टूडेंट के बीच राशन, साबुन तथा हैंड वाश आदि का वितरण किया गया. राहत सामग्री में के रूप में चावल, दाल, नमक, तेल, मसाला, बिस्कुट और फल का वितरण किया गया.
इस मौके पर कुलपति प्रोफेसर लाभ ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा कोरोना वायरस के वैश्विक संक्रमण को लेकर लॉकडाउन लागू किया गया है. लॉकडाउन के कारण फॉरनर स्टूडेंट इंटरनेशनल हॉस्टल से बाहर नहीं निकल रहे हैं. विश्वविद्यालय प्रशासन उनकी बुनियादी सुविधाओं का हर संभव ख्याल रख रहा है. उन्होंने कहा कि फॉरनर स्टूडेंट सहित नव नालंदा महाविहार परिवार लॉकडाउन का अक्षरस: पालन कर रहा है. महाविहार के हॉस्टल में रह रहे विदेशी छात्रों को बिना अनुमति बाहर निकलने पर रोक है. बहुत जरूरी कार्य होने पर ही कैंपस से बाहर निकलने की अनुमति प्रदान की जाती है. हॉस्टल और कैंपस में भी सोशल डिस्टेंस बनाकर रहने का सुझाव और हिदायत दिए गए हैं

. कुलपति ने कहा कि विश्वविद्यालय कैंपस, सभी इंटरनेशनल हॉस्टल, सेंट्रल लाइब्रेरी, गेस्ट हाउस और आवासीय परिसर को सेनीटाइज किया गया है. कुलसचिव प्रोफेसर राजेश रंजन ने कहा कि कोरोना वायरस के वैश्विक संक्रमण से बचाव के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा हर संभव कोशिश जारी है. सोशल डिस्टेंस, साफ़-सफाई, हाथ साफ रखने, हाथ न मिलाने, भीड़ न लगाने, मास्क लगाने, अध्ययन में अधिक समय लगाने और लाॅकडाउन का कठोरता से पालन करने के लिए प्रेरित किया गया है. इस अवसर पर वाइस चांसलर के अलावे मिसेज वाइस चांसलर प्रोफ़ेसर निहारिका लाभ, कुलसचिव प्रोफेसर राजेश रंजन, डॉक्टर फैजल, डॉक्टर दीपंकर लामा, डॉक्टर विश्वजीत कुमार, डॉक्टर राणा पुरुषोत्तम कुमार सिंह, डॉक्टर अशोक कुमार, आलोक कुमार, आशीष कुमार, राजेश जयसवाल, ओम प्रकाश प्रसाद एवं अन्य ने राहत वितरण में सहयोग किया .

Comments are closed.